मुख्य सचिव राम सुभग सिंह की अद्यक्षता में फेयरलाॅन में हिमाचल प्रदेश प्रशासनिक सेवा अधिकारियों के बुनियादी प्रशिक्षण कार्यक्रम का हुआ समापन समारोह

मुख्य सचिव राम सुभग सिंह की अद्यक्षता में  फेयरलाॅन में हिमाचल प्रदेश प्रशासनिक सेवा अधिकारियों के बुनियादी प्रशिक्षण कार्यक्रम का हुआ समापन समारोह

अधिकारी लोक कल्याण व सहायता के लिए सकारात्मक सोच के साथ अपने कार्यों का निर्वहन करें ताकि समाज में लोगों के सम्मान की रक्षा की जा सके। उन्होंने कहा कि अधिकारी अपने कार्य से संबंधित सम्पूर्ण जानकारी आंकड़ों सहित हमेशा अपने पास रखें, जो कार्य निष्पादन में अत्यंत लाभदायक सिद्ध होगी। उन्होंने कहा कि सम्प्रेषण भाव अधिकारी का गुण है, जिसे अपने अंदर विकसित करने के लिए निरंतर प्रयास करते रहे हैं।

शिमला  समाज में कमजोर वर्ग के उत्थान के लिए समर्पण व सहयोग की भावना से अधिकारी अपनी सेवा का निर्वहन करें। मुख्य सचिव हिमाचल प्रदेश राम सुभग सिंह ने आज हिमाचल प्रदेश लोक प्रशासन संस्थान फेयरलाॅन मशोबरा में हिमाचल प्रदेश प्रशासनिक सेवा अधिकारियों के बुनियादी प्रशिक्षण कार्यक्रम के समापन समारोह की अध्यक्षता करते हुए अपने संबोधन में यह विचार व्यक्त किए।

उन्होंने कहा कि अधिकारी लोक कल्याण व सहायता के लिए सकारात्मक सोच के साथ अपने कार्यों का निर्वहन करें ताकि समाज में लोगों के सम्मान की रक्षा की जा सके। उन्होंने कहा कि अधिकारी अपने कार्य से संबंधित सम्पूर्ण जानकारी आंकड़ों सहित हमेशा अपने पास रखें, जो कार्य निष्पादन में अत्यंत लाभदायक सिद्ध होगी।

उन्होंने कहा कि सम्प्रेषण भाव अधिकारी का गुण है, जिसे अपने अंदर विकसित करने के लिए निरंतर प्रयास करते रहे हैं। उन्होंने कहा कि कार्य दक्षता को प्रभावी रूप प्रदान करने के लिए निरंतर नवीन जानकारी प्राप्त करने की प्रक्रिया से जुड़ना अत्यंत आवश्यक है।

इसे भी पढ़ें: राकेश टिकैत का आरोप, हिमाचल में सेब कारोबार पर कब्जा करने की फिराक में है अदानी समूह

उन्होंने कहा कि विपरित परिस्थितियों में बिना संयम खोए विवेक और सहजता के साथ आने वाली चुनौतियों और कठिनाईयों का सामना करें।   उन्होंने अधिकारियों से कहा कि अपने कार्य क्षेत्र में डिजिटल प्रक्रिया का अधिक से अधिक प्रयोग करने का प्रयास करें ताकि विभागों के आंकड़ों व रिकाॅर्ड को डिजिटलाईज कर सहजा जा सके। उन्होंने प्रशिक्षण के दौरान प्रशिक्षु अधिकारियों के लिए आयोजित विभिन्न कार्यक्रमों, खेल व अन्य गतिविधियों में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले अधिकारियों को पुरस्कार भी प्रदान किए।  

 

 

कार्यक्रम के दौरान सचिव प्रशिक्षण एवं ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग डाॅ. संदीप भटनागर ने विभागीय गतिविधियों के साथ-साथ प्रशिक्षण गतिविधियों एवं प्रक्रियाओं पर जानकारी प्रदान की। उन्होंने कहा कि अधिकारी अपने अंदर परस्पर आदर भाव की भावना को विकसित करें। उन्होंने संस्थान के तहत चल रही विभिन्न गतिविधियों के संबंध में भी जानकारी दी।

इसे भी पढ़ें: किसान नेता राकेश टिकैत केवल देश और प्रदेश में वातावरण खराब करने का असफल प्रयास कर रहे

निदेशक हिमाचल प्रदेश लोक प्रशासन संस्थान विवेक भाटिया ने स्वागत संबोधन में प्रशिक्षुओं को दिए जाने वाले प्रशिक्षण के संबंध में विस्तृत जानकारी दी वहीं प्रशिक्षण संस्थान में कुछ मूलभूत सुविधाओं की उपलब्धता के प्रति मुख्य सचिव अवगत करवाया। कोर्स निदेशक एवं अतिरिक्त निदेशक हिपा ज्योति राणा ने प्रशिक्षु अधिकारियों को प्रदान किए गए प्रशिक्षण के संबंध में विस्तारपूर्वक अवगत करवाया।

इस अवसर पर संस्थान के विभिन्न संकायों के सदस्य, अधिकारी व कर्मचारी भी उपस्थित थे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।