इंडिया गेट पर नेताजी की होलोग्राम प्रतिमा: क्या है होलोग्राम टेक्नोलॉजी और इसे आप इसे अपने स्मार्टफोन से घर पर कैसे बना सकते हैं

Netaji
अभिनय आकाश । Jan 23, 2022 1:10PM
नेताजी की होलोग्राम प्रतिमा को 4K प्रोजेक्टर द्वारा संचालित किया जाएगा जो 30,000 लुमेन की चमक स्तर प्रदान करने में सक्षम होगा। ये प्रोजेक्टर महंगे हैं और आमतौर पर एक यूनिट के लिए 15 लाख रुपये से ऊपर की लागत आती है, वह भी लगभग 13×13 फीट की अधिकतम प्रक्षेपण क्षमता के साथ।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिल्ली के इंडिया गेट पर स्वतंत्रता सेनानी सुभाष चंद्र बोस की प्रतिमा का अनावरण करेंगे। यह खास तरह की होलोग्राम प्रतिमा होगी, जो आज से इंडिया गेट पर दिखने लगेगी। ग्रेनाइट की असली प्रतिमा लगने से पहले होलोग्राम की मदद से नेताजी की 3D प्रतिमा दिखाई जाएगी। ह प्रतिमा उसी जगह लगेगी, जहां कभी किंग जॉर्ज पंचम की प्रतिमा लगी थी। ऐसे में आपको बताते हैं कि क्या है होलोग्राफी तकनीक और इसे आप इसे अपने स्मार्टफोन से घर पर कैसे बना सकते हैं।

 क्या है 3डी होलोग्राम तकनीक

नेताजी की होलोग्राम प्रतिमा को 4K प्रोजेक्टर द्वारा संचालित किया जाएगा जो 30,000 लुमेन की चमक स्तर प्रदान करने में सक्षम होगा। ये प्रोजेक्टर महंगे हैं और आमतौर पर एक यूनिट के लिए 15 लाख रुपये से ऊपर की लागत आती है, वह भी लगभग 13×13 फीट की अधिकतम प्रक्षेपण क्षमता के साथ। होलोग्राम प्रतिमा का आकार 28 फीट ऊंचा और 6 फीट चौड़ा है। जबकि इस विशेष प्रोजेक्टर की सटीक कीमत का अनुमान लगाना मुश्किल है क्योंकि इसके ब्रांड और मॉडल के बारे में बहुत कम जानकारी है। होलोग्राम प्रतिमा बनाने के लिए प्रोजेक्टर के साथ-साथ 3डी छवि बनाने के लिए एक पारदर्शी होलोग्राफिक स्क्रीन की आवश्यकता होती है। पीएमओ के एक बयान के अनुसार लगभग अदृश्य होगी और इसे इस तरह से खड़ा किया जाएगा कि यह आगंतुकों को दिखाई न दे।  इमेज के चारों तरफ घूमा जा सकता है और इससे अलग अलग एंगल से जा सकेगा। जिस तरह एक मूर्ति लगी होती है, वैसे ही यह मूर्ति होगी, लेकिन यह वर्चुअल रूप से तैयार की गई होगी। 

इसे भी पढ़ें: Republic Day Celebrations | इंडिया गेट पर नेताजी की होलोग्राम प्रतिमा स्थापित करेंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

चश्मे की जरूरत नहीं होगी

आपने देखा होगा कि जब भी 3डी फिल्में देखते हैं तो उसके लिए खास तरह का चश्मा होता है, उसके बाद 3डी इफेक्ट दिखाई देता है। लेकिन, 3डी होलोग्राम की खास बात ये है कि इसके लिए किसी चश्मे की जरूरत नहीं होती है। होलोग्राफिक स्क्रीन की गुणवत्ता यह दिखाने के लिए महत्वपूर्ण है कि 3डी छवि हवा पर 'स्वाभाविक रूप से' तैर रही है और स्क्रीन से नहीं आ रही है। होलोग्राम बनाने के पीछे का विचार केवल एक छवि को इस तरह से प्रोजेक्ट करना है कि यह यथार्थवादी और सभी तरफ से दिखाई दे। 

अपने स्मार्टफोन का उपयोग करके घर पर अपना खुद का होलोग्राम कैसे बनाएं

आपको आश्चर्य होगा कि अपने स्मार्टफोन और कुछ सामान्य घरेलू सामग्रियों का उपयोग करके घर पर एक साधारण होलोग्राम बनाना काफी आसान है। वास्तव में, घरों में होलोग्राम बनाना लगभग पांच से छह साल पहले यूट्यूब तकनीक वीडियो बनाने के लिए सबसे लोकप्रिय विषयों में से एक हुआ करता था। साथ ही, आपको ज्यादा खर्च करने की जरूरत नहीं है। आप किसी भी स्मार्टफोन का उपयोग कर सकते हैं और आपको केवल एक प्लास्टिक सीडी/डीवीडी केस (जो फिल्मों और गेम के साथ आया था), एक ग्राफ पेपर (सटीक माप, चाकू, कैंची, गोंद और टेप के लिए) की आवश्यकता है। जबकि इस विषय पर बहुत सारे यूट्यूब ट्यूटोरियल हैं, एक विशेष वीडियो जो बाकियों से अलग है, वह लोकप्रिय YouTuber 'Mrwhosetheboss' द्वारा बनाया गया है। उन्होंने इस वीडियो को 2015 में पोस्ट किया था और अभी भी आपको होलोग्राम की मूल बातें सिखाने के लिए सर्वश्रेष्ठ में से एक माना जा सकता है।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़