हिमाचल विधानसभा का मानसून सत्र दो अगस्त से, 10 दिन तक चलेगा सदन

हिमाचल विधानसभा का मानसून सत्र दो अगस्त से, 10 दिन तक चलेगा सदन

सत्र के आरंभ होने पर राज्यपाल विधानसभा को संबोधित नहीं करेंगे। दो अगस्त को दो बजे पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह और भाजपा से मुख्य सचेतक रहे नरेंद्र बरागटा के निधन पर शोकोद्गार से शुरू होगा। 13 अगस्त तक सत्र आयोजित होगा।

शिमला। हिमाचल प्रदेश विधानसभा के दो अगस्त से शुरू होने जा रहे मानसून सत्र की तैयारियों के सिलसिले में आज विधानसभा अध्यक्ष विपिन सिंह परमार ने विधानसभा परिसर का जायजा लेकर अधिकारियों से बैठक की। परमार ने परिसर में चल रहे विकासात्मक कार्यों तथा अन्य मरम्मत कार्यों का निरीक्षण भी किया। 

इसे भी पढ़ें: लाहौल में सर्च ऑपरेशन के दौरान पांच शव बरामद, मणिकर्णगुम्मा में भी बादल फटा 

गौरतलब है कि हिमाचल प्रदेश विधानसभा का 10 दिवसीय मानसून सत्र 02 अगस्त से आरम्भ होने जा रहा है। यह विधानसभा पेपरलेस है लेकिन इस बार कुछ विधायकों ने ऑफलाइन भी सवाल पूछे हैं नए राज्यपाल के तौर पर राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर के पदभार संभालने के बाद विधानसभा का पहला सत्र आयोजित हो रहा है। सत्र के आरंभ होने पर राज्यपाल विधानसभा को संबोधित नहीं करेंगे। दो अगस्त को दो बजे पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह और भाजपा से मुख्य सचेतक रहे नरेंद्र बरागटा के निधन पर शोकोद्गार से शुरू होगा। 13 अगस्त तक सत्र आयोजित होगा।

इस दौरान शनिवार व रविवार को दो दिन का अवकाश होगा। 5 अगस्त व 13 अगस्त को प्राइवेट मेंबर डे होगा जिसमें विधायक अपने संकल्प प्रस्तुत करेंगे। मानसून सत्र के लिए सत्ता पक्ष के साथ-साथ विपक्ष के विधायकों ने सवाल पूछे हैं, जिसमें मुख्य रूप से अपने-अपने विधानसभा क्षेत्रों के साथ कोविड के दौरान किए गए प्रबंध और खर्च की राशि से संबंधित सवाल भी शामिल हैं। प्रदेश में सूखे के कारण और ओलावृष्टि के कारण फसल को हुए नुकसान से संबंधित सवाल भी हैं।

परमार ने अधिकारियों को समय रहते सभी कार्यों को पूर्ण करने के आदेश दिये। परमार ने परिसर की साफ सफाई को भी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। श्री परमार ने पुस्तकालय कक्ष,मीडिया सैंटर, माननीय मुख्यमंत्री तथा मंत्री परिषद के सदस्यों के चैम्बर, अभी हाल ही में नियुक्त हिमाचल प्रदेश सरकार के मुख्य सचेतक तथा उप मुख्य सचेतक के चैम्बर, पत्रकार दीर्घा, दर्शक दीर्धा तथा सदन के अन्दर चल रहे मरम्मत कार्यों का निरीक्षण किया तथा कुछ और  मरम्मत कार्यों को समय पर पूर्ण करने के निर्देश दिये । इसके अतिरिक्त उन्होंने विधान सभा के प्रतिक्षालय भवन का भी निरीक्षण किया तथा वहां आगंतुकों के लिए समुचित व्यवस्था करने के निर्देश दिये। परमार ने कहा कि सत्र के दौरान सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए प्रदेश व जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ 29 जुलाई, 2021 को अपराह्न 3 बजे बैठक बुलाई गई है। परमार ने कहा कि सत्र को सुचारू रूप से चलाने में सहयोग देने हेतु शीघ्र ही सर्वदलीय बैठक बुलाई जा रही है। 

इसे भी पढ़ें: हिमाचल की लाहौल घाटी में बादल फटने से मची भारी तबाही 

सचिव हिमाचल प्रदेश विधानसभा यशपाल का कहना है विधानसभा के मॉनसून सत्र के लिए अभी तक 350 सवाल आए हैं। इसमें से 80 फीसद आनलाइन आए हैं। इस अवसर पर विधान सभा सचिव यशपाल शर्मा, संयुक्त सचिव (प्रशासन) विधान सभा बेग राम कश्यप, उप निदेशक विधान सभा हरदयाल भारद्वाज, विधान सभा अध्यक्ष के सचिव प्रकाश ठाकुर, लोक निर्माण विभाग के सहायक अभियन्ता डॉ रवि कुमार कौंडल, विधान सभा सचिवालय के अनुभाग अधिकारी प्रशासन राजेन्द्र ठाकुर, तथा सत्र की तैयारियों में लगे अन्य अधिकारी व कर्मचारी भी मौजूद थे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...