सपा सांसद के बिगड़े बोल, कहा- कॉमन सिविल कोड अगर आ गया तो मुसलमान दूसरी शादी नहीं कर पाएगा

सपा सांसद के बिगड़े बोल, कहा- कॉमन सिविल कोड अगर आ गया तो मुसलमान दूसरी शादी नहीं कर पाएगा

सपा सांसद डॉ. एसटी हसन ने कॉमन सिविल कोड की बात कही। उन्होंने कहा कि भाजपा कॉमन सिविल कोड लाने की तैयारी कर रही है और अगर ऐसा होता है तो मुसलमान दूसरी शादी नहीं कर पाएगा और मुस्लिम पर्सनल लॉ भी समाप्त हो जाएगा।

लखनऊ। कहने के लिए जनता की आवाज बनने वाले जनप्रतिनिधि जब देश की विरासत को ही न संभाल पाएं तो क्या होगा ? ठीक ऐसा ही उदाहरण स्वतंत्रता दिवस के दिन देखने को मिला। समाजवादी पार्टी सांसद डॉ. एसटी हसन ध्वजारोहण के बाद हुए राष्ट्रगान के दौरान असहज हो गए। उसके साथ मौजूद सपा कार्यकर्ताओं और लोगों ने आधा-अधूरा राष्ट्रगान गाया। इस दौरान एसटी हसन भी मुंह चलाते हुए देखे गए। 

इसे भी पढ़ें: भाजपा के लिए अहम होते हैं पन्ना प्रमुख, जानें क्या होती है उनकी भूमिका 

सोशल मीडिया में जब यह वीडियो वायरल हुआ तो हलचल मच गई। यहां तक कहा जाने लगा कि जनप्रतिनिधि को ही राष्ट्रगान याद नहीं है। समाचार एजेंसी एएनआई ने इसका वीडियो साझा किया है। जिसमें देखा जा सकता है कि राष्ट्रगान की एक-दो पंक्ति ही सपा कार्यकर्ता और समर्थक भूल गए और गलत-सलत राष्ट्रगान गाया। हालांकि जब मीडियाकर्मियों ने सपा सांसद से बातचीत की तो उन्होंने कहा कि वहां पर मौजूद लोग जो गा रहे थे मैं उसे दोहरा रहा था। समर्थक जैसे ही राष्ट्रगान भूल गए तो वह भी चुप हो गए।

उन्होंने कहा कि मुझे गाना नहीं आता है लेकिन मुझे पूरा राष्ट्रगान याद है। सुना भी सकता हूं। आपको बता दें कि एसटी हसन पर हिन्दू-मुसलमान से जुड़ी हुई आपत्तिजनक टिप्पणियां करने का भी आरोप लगता रहा है।

खत्म हो जाएगा मुस्लिम पर्सनल लॉ

इसी बीच सपा सांसद ने कॉमन सिविल कोड की बात कही। उन्होंने कहा कि भाजपा कॉमन सिविल कोड लाने की तैयारी कर रही है और अगर ऐसा होता है तो मुसलमान दूसरी शादी नहीं कर पाएगा और मुस्लिम पर्सनल लॉ भी समाप्त हो जाएगा। 

इसे भी पढ़ें: मिशन उत्तर प्रदेश: भाजपा पर बरसीं मायावती, बोलीं- बाढ़ की आड़ में कर रही है घिनौनी राजनीति 

मुरादाबाद के गलशहीद में स्वतंत्रता दिवस समारोह के दौरान सपा सांसद ने कहा कि आज का दौर सबसे खराब दौर है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक एसटी हसन ने कहा कि कॉमन सिविल कोड के लागू होते हुए आर्टिकल 30 समाप्त हो जाएगा। जिसके चलते मुसलमानों के शैक्षणिक संस्थान बंद हो जाएंगे। इस दौरान उन्होंने कहा कि आजादी को अगर आप बचाना चाहते हैं तो भाजपा के खिलाफ वोट करें।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।