बोटी-बोटी वाले मसूद सपा में सेट करेंगे अपनी गोटी? बीजेपी को लेकर दिए इस बयान से कांग्रेस की बढ़ सकती है टेंशन

बोटी-बोटी वाले मसूद सपा में सेट करेंगे अपनी गोटी? बीजेपी को लेकर दिए इस बयान से कांग्रेस की बढ़ सकती है टेंशन

इमरान मसूद ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी को हराने के लिए समाजवादी पार्टी के साथ मिलकर सबलोग लड़े। इमरान मसूद से जब ये पूछा गया कि यूपी में कांग्रेस प्रियंका गांधी के चेहरे पर चुनावी मैदान में है तो इस सवाल का भी इमरान ने चौंकाने वाला जवाब दिया।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में अभी करीब-करीब पांच महीने का वक्त बाकी है। लेकिन इससे पहले ही पार्टियों में जोड़-तोड़ की राजनीति शुरू हो गई है। कांग्रेस के इमरान मसूद ने अब अपनी पार्टी के मुकाबले समाजवादी पार्टी को बेहतर बताकर सियासी हलचल तेज कर दी है। मसूद के इस बयान से उनके समाजवादी पार्टी में जाने की चर्चा जोर पकड़ने लगी है।

मसूद ने सपा को लेकर क्या कहा

इमरान मसूद ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी को हराने के लिए समाजवादी पार्टी के साथ मिलकर सबलोग लड़े। इमरान मसूद से जब ये पूछा गया कि यूपी में कांग्रेस प्रियंका गांधी के चेहरे पर चुनावी मैदान में है तो इस सवाल का भी इमरान ने चौंकाने वाला जवाब दिया।  प्रियंका जी बहुत मेहनत कर रही हैं। लेकिन इन तमाम कोशिशों को बावजूद जनता का रेस्पांस वोट के लिहाज से दूसरी तरफ दिखाई देता है।  

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश की खबरें: सीएम योगी ने बाराबंकी को दिया 500 करोड़ रुपए की परियोजनाओं का तोहफा

इमरान करेंगे साइकिल की सवारी? 

कांग्रेस में रहकर समाजवादी पार्टी की तारीफ में ये कसीदे इसलिए पढ़े जा रहे हैं। क्योंकि यूपी विधानसभा चुनाव से पहले सियासी समीकरण में उलटफेर की तैयारी शुरू हो चुकी है। चुनाव से ठीक पहले इमरान मसूद के सुर बदलने के पीछे कयास लग रहे हैं कि इमरान मसूद जल्द कांग्रेस को अलविदा कह साइकिल की सियासी सवारी कर सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें: कोविड वैक्सीन तभी लगवाऊंगा जब सर्टिफिकेट पर मोदीजी के चित्र की बजाय तिरंगा छापा जाएगाः अखिलेश यादव

 कौन हैं इमरान मसूद

कांग्रेस के मुकाबले सपा को मजबूत विपक्ष बताकर अपनी ही पार्टी के नेतृत्व पर सवाल उठाने वाले ये कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव इमरान मसूद हैं। लोकसभा चुनाव के वक्त इमरान मसूद का नरेंद्र मोदी को लेकर दिया गया बोटी-बोटी वाला बयान खूब सुर्खियों में रहा था। इमरान मसूद 2007 में वह मुजफ्फराबाद विधानसभा से निर्दलीय विधायक बने थे। वह सहारनपुर नगर पालिका चेयरमैन पद का चुनाव भी जीत चुके हैं. 2012 में वह नकुड़ से विधानसभा चुनाव लड़े, लेकिन हार गए। 2014 में उन्‍होंने सहारनपुर से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ा और दूसरे स्‍थान पर रहे।  इसके बाद वह 2017 के विधानसभा चुनाव में नकुड़ विधानसभा से मैदान में उतरे, लेकिन हार गए। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।