• UP में विगत 24 घंटों में 8,24,008 लोगों को वैक्सीन की डोज लगायी गयी

प्रदेश में विगत 24 घंटों में 8,24,008 लोगों को वैक्सीन की डोज लगायी गयी। अब तक कुल 2,71,85,347 डोजें लगायी गयी। 21 जून से वैक्सीनेशन को और गति प्रदान करने के लिए क्लस्टर माॅडल आॅफ वैक्सीनेशन के पायलट प्रोजेक्ट अभियान का अच्छा परिणाम मिल रहा है।

मुख्यमंत्री के 3टी ट्रेस, ट्रैक और ट्रीट अभियान के साथ-साथ आशिंक कोरोना कफ्र्यू तथा टीकाकरण से प्रदेश में कोरोना का संक्रमण नियंत्रित करने में सफलता मिली हैं। सर्विलांस के माध्यम से निगरानी समितियों द्वारा ट्रेसिंग के तहत घर-घर जाकर संक्रमण की जानकारी ली। 97,000 ग्रामीण पंचायतों में 5 मई, 2021 से एक विशेष अभियान चलाकर, जिसमें 80,000 निगरानी समितियों द्वारा घर-घर जाकर उन लोगों का जिनमें किसी प्रकार के संक्रमण के लक्षण होने पर उनका एन्टीजन टेस्ट भी कराया जा रहा। अगर एन्टीजन टेस्ट निगेटिव आ रहा है और लक्षण हैं तो उनका आरटीपीसीआर टेस्ट भी कराया जा रहा है, इसके साथ-साथ मेडिकल किट भी बांटी गयी। सर्विलांस के माध्यम से सरकारी मशीनरी द्वारा उत्तर प्रदेश की 24 करोड़ की जनसंख्या में से अब तक लगभग 17 करोड़ से अधिक लोगों से उनका हालचाल जाना।आंशिक कोरोना कफ्र्यू के समय से प्रदेश में जीवन और जीविका बचाने के उद्देश्य से औद्योगिक, आर्थिक गतिविधियां, चीने मिले और गेहूॅ खरीद चालू रही। प्रदेश में सक्रिय मामले कम होने पर भी कोविड-19 के टेस्टों की संख्या कम नहीं की जा रही है, ताकि संक्रमित व्यक्ति की पहचान करके इलाज किया जा सके। उत्तर प्रदेश देश में प्रतिदिन सबसे अधिक टीकाकरण करने वाला। राज्य, कल 08 लाख से अधिक टीकाकरण किया गया। माह जून में 01 करोड़ टीकाकरण करने का लक्ष्य रखा गया है। मुख्यमंत्री जी ने 01 जुलाई से प्रतिदिन 10 से 12 लाख टीके लगाये जाने का लक्ष्य रखा गया। कोविड-19 की सम्भावित तीसरी लहर के दृष्टिगत प्रदेश में विशेषज्ञ समिति की सलाह पर अवस्थापना सुविधा बढ़ाई जा रही।

इसे भी पढ़ें: जिला पंचायत अध्यक्षों की कुर्सी हथियाने के लिए सत्ता का दुरुपयोग कर रही है भाजपा : अखिलेश

संभावित कोविड की तीसरी लहर के तहत सभी मेडिकल कालेज में 100-100 पीआईसीयू बेड का कार्य लगभग पूरा हो गया है। हर जिला अस्पताल में 20-20 बेड पीआईसीयू के और कम से कम दो सीएचसी में पीकू/नीकू के बेड बढ़ाये प्रदेश में भविष्य में आॅक्सीजन की कमी न हो उसकी व्यवस्था प्राथमिकता के आधार पर की जा रही।  प्रदेश में 528 आॅक्सीजन प्लांट में से अबतक 110 प्लांट क्रियाशील मिशन रोजगार के तहत अधिक से अधिक लोगों को रोजगार उपलब्ध कराया जा रहा। 

प्रदेश में रोजगार के अवसर सृजित करने तथा प्रदेश की अर्थव्यवस्था को और बेहतर करने में बड़ा कदम

मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में आज एक आनॅलाइन मेले का आयोजन किया गया। मेले में लगभग 31 हजार नई इकाइयों को बैंकों से समन्वय करके लगभग 2505 करोड़ ऋण उपलब्ध कराया गया, इन इकाइयों से लगभग 20 लाख रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे। पिछले वित्तीय वर्ष में लगभग 34 लाख 80 हजार एमएसएमई इकाइयों को लगभग 62 हजार करोड़ का ऋण बैकों के माध्यम से दिया गया था। प्रदेश सरकार किसानों के हितों के लिए कृतसंकल्प है और किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर उनकी फसल को खरीदे जाने की प्रक्रिया हुए तेजी से की गयी। 22 जून, 2021 तक  गेहँू क्रय अभियान के तहत लगभग 13 लाख किसानों से 56.39 लाख मी0 टन गेहूँ खरीदा गया है, जो विगत वर्ष से दोगुना खरीफ की फसल के लिए खाद बीज उपलब्ध कराया जा रहा। प्रदेश में बड़ी संख्या में संक्रमण कम होने के बावजूद टेस्टिंग कम नहीं की जा रही। गत एक दिन में कुल 2,69,472 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 5,69,99,840 सैम्पल की जांच की गयी है, जो देश में सबसे अधिकप्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 208 नये मामले आये। प्रदेश में विगत 24 घंटे में 302 लोग तथा अब तक 16,78,788 लोग कोविड-19 से ठीक हुए प्रदेश में कोरोना के कुल 3,666 एक्टिव मामले हैं, जिनमें से 2,208 लोग होम आइसोलेशन में प्रदेश में प्रतिदिन की पाॅजिविटी दर 0.1 प्रतिशत, तथा रिकवरी रेट 98.5 प्रतिशत सर्विलांस की कार्यवाही में अब तक सर्विलांस टीम के माध्यम से 3,58,21,571 घरों के 17,22,17,441 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया। कोविड वैक्सीनेशन का कार्य निरन्तर किया जा रहा है। प्रदेश में विगत 24 घंटों में 8,24,008 लोगों को वैक्सीन की डोज लगायी गयी। अब तक कुल 2,71,85,347 डोजें लगायी गयी। 21 जून से वैक्सीनेशन को और गति प्रदान करने के लिए क्लस्टर माॅडल आॅफ वैक्सीनेशन के पायलट प्रोजेक्ट अभियान का अच्छा परिणाम मिल रहा है। टीका सुरक्षित और प्रभावी है इसलिए टीकाकरण अवश्य करायें। अन्य प्रदेशों से आने वाले लोग अपनी जांच अवश्य करायें। मास्क का प्रयोग अनिवार्य रूप से करे, सेनेटाइजर व साबुन से हाथ धोते रहे। टीकाकरण के बाद भी कोविड प्रोटोकाॅल का पालन अवश्य करें।

इसे भी पढ़ें: जिला पंचायत अध्यक्षों की कुर्सी हथियाने के लिए सत्ता का दुरुपयोग कर रही है भाजपा : अखिलेश

अपर मुख्य सचिव ‘सूचना’ नवनीत सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री के 3टी ट्रेस, ट्रैक और ट्रीट अभियान के साथ-साथ आशिंक कोरोना कफ्र्यू तथा टीकाकरण से प्रदेश में कोरोना का संक्रमण नियंत्रित करने में सफलता मिली है। प्रदेश में कोविड-19 का संक्रमण अन्य प्रदेशों के अपेक्षा कम है। उन्होंने बताया कि सर्विलांस के माध्यम से निगरानी समितियों द्वारा ट्रेसिंग के तहत घर-घर जाकर संक्रमण की जानकारी ली जा रही है। उन्होंने बताया कि 97,000 ग्रामीण पंचायतों में 5 मई, 2021 से एक विशेष अभियान चलाकर, जिसमें 80,000 निगरानी समितियों द्वारा घर-घर जाकर उन लोगों का जिनमें किसी प्रकार के संक्रमण के लक्षण होने पर उनका एन्टीजन टेस्ट भी कराया जा रहा है। अगर एन्टीजन टेस्ट निगेटिव आ रहा है और लक्षण हैं तो उनका आरटीपीसीआर टेस्ट भी कराया जा रहा है, इसके साथ-साथ मेडिकल किट भी बांटी गयी है। उन्होंने बताया कि सर्विलांस के माध्यम से सरकारी मशीनरी द्वारा उत्तर प्रदेश की 24 करोड़ की जनसंख्या में से अब तक लगभग 17 करोड़ से अधिक लोगों से उनका हालचाल जाना गया है। सहगल ने बताया कि आंशिक कोरोना कफ्र्यू के समय से प्रदेश में जीवन और जीविका बचाने के उद्देश्य से औद्योगिक, आर्थिक गतिविधियां, चीने मिले और गेहूॅ खरीद चालू रही। प्रदेश में सक्रिय मामले कम होने पर भी कोविड-19 के टेस्टों की संख्या कम नहीं की जा रही है, ताकि संक्रमित व्यक्ति की पहचान करके इलाज किया जा सके। उत्तर प्रदेश देश में प्रतिदिन सबसे अधिक टीकाकरण करने वाला राज्य है। कल 08 लाख से अधिक टीकाकरण किया गया है। माह जून में 01 करोड़ टीकाकरण करने का लक्ष्य रखा गया है। मुख्यमंत्री जी ने 01 जुलाई से प्रतिदिन 10 से 12 लाख टीके लगाये जाने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने बताया कि कोविड-19 की सम्भावित तीसरी लहर के दृष्टिगत प्रदेश में विशेषज्ञ समिति की सलाह पर अवस्थापना सुविधा बढ़ाई जा रही है। उन्होंने बताया कि संभावित कोविड की तीसरी लहर के तहत सभी मेडिकल कालेज में 100-100 पीआईसीयू बेड का कार्य लगभग पूरा हो गया है। हर जिला अस्पताल में 20-20 बेड पीआईसीयू के और कम से कम दो सीएचसी में पीकू/नीकू के बेड बढ़ाये जा रहे हैं। प्रदेश में भविष्य में आॅक्सीजन की कमी न हो उसकी व्यवस्था प्राथमिकता के आधार पर की जा रही है। प्रदेश में 528 आॅक्सीजन प्लांट में से अबतक 110 प्लांट क्रियाशील हो गये है। सहगल ने बताया कि मिशन रोजगार के तहत अधिक से अधिक लोगों को रोजगार उपलब्ध कराया जा रहा है। मुख्यमंत्री जी की अध्यक्षता में आज एक आनॅलाइन मेले का आयोजन किया गया। इस मेले में लगभग 31 हजार नई इकाइयों को बैंकों से समन्वय करके लगभग 2505 करोड़ ऋण उपलब्ध कराया गया। इन इकाइयों से लगभग 20 लाख रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे। प्रदेश में रोजगार के अवसर सृजित करने तथा प्रदेश की अर्थव्यवस्था को और बेहतर करने में बड़ा कदम है। उन्होंने बताया कि पिछले वित्तीय वर्ष में लगभग 34 लाख 80 हजार एमएसएमई इकाइयों को लगभग 62 हजार करोड़ का ऋण बैकों के माध्यम से दिया गया था।

सहगल ने बताया कि प्रदेश सरकार किसानों के हितों के लिए कृतसंकल्प है और किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर उनकी फसल को खरीदे जाने की प्रक्रिया कोविड प्रोटोकाल का पालन करते हुए तेजी से की गयी है। 22 जून, 2021 तक  गेहँू क्रय अभियान के तहत लगभग 13 लाख किसानों से 56.39 लाख मी0 टन गेहूँ खरीदा गया है, जो विगत वर्ष से दोगुना है। खरीफ की फसल के लिए खाद बीज उपलब्ध कराया जा रहा है। अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि मुख्यमंत्री जी के निर्देशानुसार प्रदेश में बड़ी संख्या में संक्रमण कम होने के बावजूद, टेस्टिंग कम नहीं की जा रही है। गत एक दिन में कुल 2,69,472 सैम्पल की जांच की गयी है। प्रदेश में अब तक कुल 5,69,99,840 सैम्पल की जांच की गयी है, जो देश में सबसे अधिक है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 208 नये मामले आये हैं। प्रदेश में विगत 24 घंटे में 302 लोग तथा अब तक 16,78,788 लोग कोविड-19 से ठीक हो चुके हैं। प्रदेश में कोरोना के कुल 3,666 एक्टिव मामले हैं, जिनमें से 2,208 लोग होम आइसोलेशन में हैं। प्रदेश में प्रतिदिन की पाॅजिविटी दर 0.1 प्रतिशत है। प्रदेश में रिकवरी रेट 98.5 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि सर्विलांस की कार्यवाही निरन्तर चल रही है। प्रदेश में अब तक सर्विलांस टीम के माध्यम से 3,58,21,571 घरों के 17,22,17,441 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है। प्रसाद ने बताया कि कोविड वैक्सीनेशन का कार्य निरन्तर किया जा रहा है। प्रदेश में विगत 24 घंटों में 8,24,008 लोगों को वैक्सीन की डोज लगायी गयी है। अब तक कुल 2,71,85,347 डोजें लगायी गयी हैं। उन्होंने बताया कि 21 जून से वैक्सीनेशन को और गति प्रदान करने के लिए क्लस्टर माॅडल आॅफ वैक्सीनेशन के पायलट प्रोजेक्ट अभियान का अच्छा परिणाम मिल रहा है। टीका सुरक्षित और प्रभावी है इसलिए टीकाकरण अवश्य करायें। उन्होंने बताया कि अन्य प्रदेशों से आने वाले लोग अपनी जांच अवश्य करायें। उन्हांेने लोगों से अपील की है कि मास्क का प्रयोग अनिवार्य रूप से करे, सेनेटाइजर व साबुन से हाथ धोते रहे। टीकाकरण के बाद भी कोविड प्रोटोकाॅल का पालन अवश्य करें।