वैक्सीनेशन में अमेरिका से आगे निकला भारत, PM बोले- सबको टीका, मुफ्त टीका के लिए सरकार प्रतिबद्धत

वैक्सीनेशन में अमेरिका से आगे निकला भारत, PM बोले- सबको टीका, मुफ्त टीका के लिए सरकार प्रतिबद्धत

भारत में टीकाकरण के रफ्तार को उस दिन गति मिली जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने टीकाकरण को लेकर केंद्र सरकार की प्रतिबद्धता जताई थी और सब को मुफ्त में टीका उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया था।

देश में कोरोना संक्रमण के बीच टीकाकरण की रफ्तार तेजी से जारी है। आज केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि कोविड-19 के मामले में भारत अमेरिका से आगे निकल गया है। अब तक भारत में 32,36,63,297 वैक्सीन डोज़ दी गई हैं। भारत में टीकाकरण के रफ्तार को उस दिन गति मिली जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने टीकाकरण को लेकर केंद्र सरकार की प्रतिबद्धता जताई थी और सब को मुफ्त में टीका उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया था।

भारत में टीकाकरण अभियान के रफ्तार पकड़ने का उल्लेख करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने को कहा कि ‘‘सबको टीका, मुफ्त टीका’’ के लिए सरकार की प्रतिबद्धता बनी हुई है। मोदी ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के एक ट्वीट पर प्रतिक्रिया दी जिसमें कहा गया कि भारत एक और उपलब्धि हासिल की है क्योंकि यहां लोगों को दी गयी टीकों की कुल खुराकों की संख्या अमेरिका, ब्रिटेन, जर्मनी, फ्रांस और इटली जैसे देशों की तुलना में अधिक है। मंत्रालय ने बताया कि सोमवार को सुबह आठ बजे तक कोविड-19 रोधी टीके की 32.36 करोड़ खुराकें दी जा चुकी हैं। प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘भारत का टीकाकरण अभियान रफ्तार पकड़ रहा है। इस अभियान में शामिल सबको बधाई। सबको टीका, मुफ्त टीका के लिए हमारी प्रतिबद्धता बनी हुई है।

इसे भी पढ़ें: रोजाना एक करोड़ वैक्सीन लगाने का लक्ष्य ! डॉ अरोड़ा बोले- जागरूकता अभियान चलाने की जरूरत

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के पास कोविड-19 टीके की 1.15 करोड़ से अधिक शेष एवं अप्रयुक्त खुराकें लोगों को लगाने के लिए अब भी उपलब्ध हैं। केंद्र ने भारत सरकार की ओर से नि:शुल्क टीका मुहैया कराए जाने और राज्यों की ओर से सीधी खरीद प्रयोग श्रेणी के जरिए राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को टीके की अब तक 31.69 करोड़ से अधिक खुराकें उपलब्ध कराई हैं। मंत्रालय ने बताया कि इनमें बर्बाद हुए टीकों सहित कुल 30,54,17,617 खुराकों का उपयोग हुआ है। मंत्रालय ने कहा, “कोविड-19 टीके की 1.15 करोड़ से अधिक (1,15,22,543) शेष एवं अप्रयुक्त खुराकें,लोगों को लगाए जाने के लिए राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के पास अब भी उपलब्ध हैं।’’ कोविड-19 टीकाकारण के सार्वभौमीकरण का नया चरण 21 जून से शुरू हुआ है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।