अब दुश्मनों की खैर नहीं! ब्रह्मोस ने दिखाया दम, 3 हजार किलोमीटर की रफ्तार से सीधा प्रहार और जहाज हो गया तबाह

 BrahMos missile
ANI
अभिनय आकाश । Apr 20, 2022 5:49PM
भारतीय वायुसेना ने अपनी तैयारियों का प्रदर्शन करते हुए सुखोई फाइटर जेट से ब्राह्मोस मिसाइल का सफल परीक्षण किया है। ये परीक्षण पूर्वी समुंद्री तट पर किया गया। समाचार एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार मिसाइल अपने लक्ष्य को भेदने में सफल रही है।

भारतीय वायुसेना ने ऐसा शक्ति प्रदर्शन किया है, जिसे देखकर दुनिया हैरान हो गई है। भारत ने अपने लड़ाकू विमान से दुनिया के सबसे बेहतरीन ब्रह्मोस मिसाइल को दोबारा दाग दिया है। ये वही ब्रह्मोस मिसाइल है जिसका नाम आते ही पाकिस्तान में हलचल मच जाती है। बता दें कि भारतीय वायुसेना ने अपनी तैयारियों का प्रदर्शन करते हुए सुखोई फाइटर जेट से ब्राह्मोस मिसाइल का सफल परीक्षण किया है। ये परीक्षण पूर्वी समुंद्री तट पर किया गया। समाचार एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार मिसाइल अपने लक्ष्य को भेदने में सफल रही है। ब्रह्मोस मिसाइल का टारगेट भारतीय नौसेना का एक खराब जहाज था। जिस पर उनसे सीधा प्रहार किया। 

इसे भी पढ़ें: अठावले बोले- महाराष्ट्र में नहीं होनी चाहिए लाउडस्पीकर की राजनीति, राज ठाकरे की भूमिका का करेंगे विरोध

आईएएफ के अनुसार ये मिशन नौसेना के साथ साझा रूप से शुरू किया गया था। बता दें कि करीब एक हफ्ते पहले भी सेना के लिए ब्रह्मोस क्रूस मिसाइल का अपग्रेटेड वर्जन तैयार हो रहा था। इसकी रेंज 800 किलोमीटर होगी।  यानी हमारे लड़ाकू विमान हवा में रहते हुए दुश्मन के ठिकानों को इतनी दूर से ही ध्वस्त कर सकते हैं। हो सकता है कि ये परीक्षण इसी संबंध में हो। एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार ब्रह्मोस ने मंगलवार को एक ही लक्ष्य पर दो सीधे प्रहार किए। मिसाइल 3 हजार किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से कुछ ही सेकेंड में जंगी जहाज से जा टकराई। जहाज में मिसाइल के हमले से बड़ा छेद हो गया। ये इतना बड़ा था कि जहाज आसानी से पानी में डूब जाए। 

इसे भी पढ़ें: यूक्रेन में रूसी सेनाओं का हो रहा धीरे-धीरे कब्जा, अब क्रेमिन्ना की गलियों में घुसी

ब्रह्मोस मिसाइलों के अलग-अलग वर्जन का परीक्षण समय-समय पर किया जा रहा है। भारत ने पिछले कुछ महीनों में ही ब्रह्मोस का हवा, जमीन और समुद्र से सफल परीक्षण कर लिया है। ब्रह्मोस भारत की एकलौती ऐसी मिसाइल है जिसे हवा, पानी, जमीन कहीं से भी दुश्मन पर दागा जा सकता है। बता दें कि इस क्षमता को ट्रायड कहा जाता है। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़