इंडियन ऑयल एक्स्ट्रा ग्रीन डीजल और ग्रीन कॉम्बो लुब्रिकेंट का भारत में पहला ट्रॉयल हरियाणा से हुआ शुरू

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 22, 2022   21:10
इंडियन ऑयल एक्स्ट्रा ग्रीन डीजल और ग्रीन कॉम्बो लुब्रिकेंट का भारत में पहला ट्रॉयल हरियाणा से हुआ शुरू

परिवहन मंत्री मूलचन्द शर्मा ने इंडियन ऑयल व हरियाणा रोडवेज के अधिकारियों व कर्मचारियों को भी बधाई दी। उन्होंने कहा कि इंडियन ऑयल ने राष्ट्र हित में यह एक बेहतरीन कदम उठाया है। इस एक्स्ट्रा ग्रीन डीजल और ग्रीन कॉम्बो लुब्रिकेंट से प्रदूषण में कमी आएगी और गाड़ियों की माइलेज भी बढ़ेगी। इसमें खास बात यह कि इस ऑयल की खोज फरीदाबाद में इंडियन ऑयल सेंटर ने की है।

चंडीगढ़  इंडियन ऑयल द्वारा इंडियन ऑयल एक्स्ट्रा ग्रीन डीजल और ग्रीन कॉम्बो लुब्रिकेंट का भारत में पहला ट्रायल हरियाणा के बल्लबगढ़ बस अड्डा से शुरू हुआ है। इस ग्रीन डीजल से वाहनों से होने वाले प्रदूषण से राहत मिलेगी, वहीं माइलेज भी 5 प्रतिशत बढ़ जाएगी।

 

हरियाणा के परिवहन मंत्री मूलचन्द शर्मा ने मुख्यातिथि के रूप में बल्लभगढ़ स्थित बस अड्डा से इस ट्रायल का शुभारंभ किया। इस कार्यक्रम में इंडियन ऑयल के आरडी सेंटर के निदेशक डॉ एसएसवी रामा कुमार विशेष रूप से मौजूद रहे।

इसे भी पढ़ें: हरियाणा सरकार ने 12 एचसीएस अधिकारियों के स्थानांतरण किए

इस अवसर पर परिवहन मंत्री मूलचन्द शर्मा ने इंडियन ऑयल व हरियाणा रोडवेज के अधिकारियों व कर्मचारियों को भी बधाई दी। उन्होंने कहा कि इंडियन ऑयल ने राष्ट्र हित में यह एक बेहतरीन कदम उठाया है।  इस एक्स्ट्रा ग्रीन डीजल और ग्रीन कॉम्बो लुब्रिकेंट से प्रदूषण में कमी आएगी और गाड़ियों की माइलेज भी बढ़ेगी। इसमें खास बात यह कि इस ऑयल की खोज फरीदाबाद में इंडियन ऑयल सेंटर ने की है। परिवहन मंत्री मूलचन्द शर्मा ने कहा कि आज ये ट्रायल देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहरलाल व देश के परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के सपने को पूरा करेगा, जिनका प्रयास है कि वाहनों के लिए ऐसे तेल की खोज हो जिससे कम से कम प्रदूषण हो।

इसे भी पढ़ें: राजपथ पर छोटे से राज्य हरियाणा की बड़ी उपलब्धियां बनेंगी विशेष आकर्षण का केंद्र

परिवहन मंत्री ने बताया कि एक्स्ट्रा ग्रीन ऑयल के ट्रायल के लिए रोडवेज की 10 बसों का उपयोग किया जाएगा। इनमें निरंतर इस ऑयल का प्रयोग कर सभी पैमानों पर इसकी गुणवत्ता को चेक किया जाएगा। उन्होंने एक्स्ट्रा ग्रीन आयल से चलाए जानी वाली बसों को झंडी दिखाने के बाद कहा कि आज इंडियन ऑयल की दूरगामी विजन, लगन और मेहनत रंग ला रही है।

 

इस अवसर पर आर एंड डी के निदेशक श्री रामाकुमार ने बताया कि इंडियन ऑयल के इस ग्रीन कॉम्बो के विभिन्न परीक्षणों में अब तक 5 ओर 7 प्रतिशत और इसे अधिक फ्यूल इकोनॉमी का लाभ हुआ है। इस 40 हजार किलोमीटर के ट्रायल के बाद इसे पूरे हरियाणा रोडवेज में लागू करेंगे, जिससे हरियाणा रोडवेज को सालाना लगभग 40 करोड़ रुपये का  फायदा होगा।

इससे लगभग 1000 टन कार्बनडाइऑक्साइड  के उत्सर्जन में कमी आएगी और पर्यावरण संरक्षण में लाभ मिलेगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...