विमान उतारने वाली तकनीक में भारत की नई उड़ान ! 'गगन' का इस्तेमाल करने वाली पहली एयरलाइन बनी इंडिगो

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 29, 2022   12:57
विमान उतारने वाली तकनीक में भारत की नई उड़ान ! 'गगन' का इस्तेमाल करने वाली पहली एयरलाइन बनी इंडिगो
प्रतिरूप फोटो
Twitter

नेविगेशन प्रणाली को केंद्र के भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) और भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) द्वारा संयुक्त रूप से विकसित किया गया है। जब कोई विमान लैंडिंग के लिए रनवे के पास आ रहा हो तब ‘गगन’ का उपयोग पार्श्व और ऊर्ध्वाधर मार्गदर्शन प्रदान करने के लिए किया जाता है।

नयी दिल्ली।  इंडिगो स्वदेशी नेविगेशन (वायुयान संचालन) प्रणाली ‘गगन’ का उपयोग करके विमान की लैंडिंग कराने वाली देश की पहली एयरलाइन बन गई है। बृहस्पतिवार को जारी एक बयान में यह जानकारी दी गई। इंडिगो द्वारा जारी बयान में कहा गया कि एटीआर-72 विमान द्वारा संचालित उड़ान को बुधवार सुबह राजस्थान के किशनगढ़ हवाई अड्डे पर जीपीएस-सहायता प्राप्त भू-संवर्धित नेविगेशन (गगन) का इस्तेमाल करते हुए उतारा गया। 

इसे भी पढ़ें: विमान ईंधन की कीमत में 0.2 फीसदी की बढ़ोतरी, रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचे दाम 

बयान में कहा गया कि इस नेविगेशन प्रणाली को केंद्र के भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) और भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) द्वारा संयुक्त रूप से विकसित किया गया है। जब कोई विमान लैंडिंग के लिए रनवे के पास आ रहा हो तब ‘गगन’ का उपयोग पार्श्व और ऊर्ध्वाधर मार्गदर्शन प्रदान करने के लिए किया जाता है। इसकी सटीकता छोटे हवाई अड्डों पर विशेष रूप से उपयोगी है जहां उपकरण लैंडिंग प्रणाली (आईएलएस) स्थापित नहीं की गई है। 

इसे भी पढ़ें: SpiceJet के 90 पायलटों के 737 मैक्स विमान उड़ाने पर रोक, फिर लेनी होगी ट्रेनिंग 

बयान में कहा गया कि गगन भारत के नागरिक उड्डयन क्षेत्र का आधुनिकीकरण करेगा, उड़ान में देरी को कम करेगा, ईंधन की बचत करेगा और उड़ान सुरक्षा में सुधार करेगा। नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने एक जुलाई, 2021 के बाद भारत में पंजीकृत सभी विमानों को गगन उपकरण से लैस करने का आदेश जारी किया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...