मंहगाई, बेरोजगारी, अपराध चरम पर... तो फिर सब कुछ अच्छा कैसे: कांग्रेस

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 24, 2019   14:19
मंहगाई, बेरोजगारी, अपराध चरम पर... तो फिर सब कुछ अच्छा कैसे: कांग्रेस

शर्मिष्ठा ने कहा, एक अनुमान के मुताबिक, मौजूदा समय में करीब आठ करोड़ लोग बेरोजगार हैं। दूसरी तरफ कुछ महीने में ही लाखों लोगों की नौकरी चली गयी। ऑटो क्षेत्र में मंदी बढ़ती जा रही है, विनिर्माण इकाइयां बन्द हो रही हैं, कृषि में भी रोजगार घट रहा है।

नयी दिल्ली। कांग्रेस ने मंगलवार को कहा कि जब मंहगाई, बेरोजगारी और अपराध की घटनाएं बहुत बढ़ गयी हैं, ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कैसे कह सकते हैं कि देश में सब कुछ ठीक है। पार्टी प्रवक्ता शर्मिष्ठा मुखर्जी ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री यह कहकर अपना पीछा नहीं छुड़ा सकते कि भारत में सब अच्छा है। उन्होंने संवाददाताओं से कहा, महंगाई बढ़ रही है। पिछले सात दिन से पेट्रोल की कीमत लगातार बढ़ रही है। मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में एक्साइज ड्यूटी बढ़ी और दूसरे कार्यकाल केपहले बजट में भी इसे बढ़ा दिया गया। अब एक्साइज ड्यूटी बहुत ज्यादा बढ़ गई है। 

शर्मिष्ठा ने कहा, मुंबई में पेट्रोल की कीमत 80 रुपये और डीजल की कीमत 73 रुपये हो गयी है। दिल्ली में प्याज की कीमत 70 रुपये से ज्यादा है। दूसरी सब्जियों की कीमत भी ज्यादा है। उन्होंने सवाल किया कि हम सरकार से जानना चाहते हैं कि वह मंहगाई कम करने के लिए क्या कर रही है? शर्मिष्ठा ने कहा, एक अनुमान के मुताबिक, मौजूदा समय में करीब आठ करोड़ लोग बेरोजगार हैं। दूसरी तरफ कुछ महीने में ही लाखों लोगों की नौकरी चली गयी। ऑटो क्षेत्र में मंदी बढ़ती जा रही है, विनिर्माण इकाइयां बन्द हो रही हैं, कृषि में भी रोजगार घट रहा है। 

इसे भी पढ़ें: दुनिया में कहीं भी होने वाला आतंकवादी हमला ‘बड़ा-छोटा’ या ‘अच्छा-बुरा’ नहीं होता: पीएम मोदी

उन्होंने कहा,  इस समय सरकार और समाज के लिए बड़ी चुनौती युवाओं की ऊर्जा का सकारात्मक रूप से इस्तेमाल करना है। अगर ऐसा नहीं हुआ तो देश और समाज के लिए खतरा बढ़ सकता है। कांग्रेस नेता ने यह भी कहा,  महिलाओं के खिलाफ अपराधलगातार हो रहे हैं। उत्तर प्रदेश में अपराध बहुत बढ़ गये हैं। दिल्लीका हाल भी अलग नहीं है।’’उन्होंने तंज किया ‘‘मोदी जी बोलते हैं कि स्मार्ट सिटी बनाएंगे, अच्छी बात है। लेकिन हमारा कहना है कि स्मार्ट सिटी से पहले देश की राजधानी को सुरक्षित करिये।’’ उन्होंने यह सवाल भी किया कि इन सबके बावजूद कोई कैसे कह सकता है कि सब कुछ अच्छा है?





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...