शत्रुघ्न के हाथ की बजाय पूनम ने साइकिल पर जताया भरोसा, लखनऊ से राजनाथ को देंगी चुनौती

  •  अभिनय आकाश
  •  अप्रैल 16, 2019   16:28
  • Like
शत्रुघ्न के हाथ की बजाय पूनम ने साइकिल पर जताया भरोसा, लखनऊ से राजनाथ को देंगी चुनौती

आज ही राजनाथ सिंह ने लखनऊ लोकसभा सीट में रोड शो के बाद अपना नामांकन दाखिल किया है। बता दें कि लखनऊ लोकसभा सीट पर नामांकन दाखिल करने की अंतिम तिथि 18 अप्रैल है, जबकि वोटिंग 6 मई को होगी।

लखनऊ। नफासत के साथ सियासत वाले लखनऊ में शत्रुघ्न सिन्हा की पत्नी पूनम सिन्हा ने समाजवादी पार्टी का दामन थाम लिया है। उन्होंने समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव से मुलाकत की और औपचारिक रुप से पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। इससे पहले भी कई बार लखनऊ लोकसभा सीट से भाजपा उम्मीदवार राजनाथ सिंह के खिलाफ शत्रुघ्न सिन्हा की पत्नी पूनम सिन्हा के चुनाव लड़ने की खबरें समय-समय पर आती रही थी। सपा नेता रविदास मेहरोत्रा ने कहा कि पूनम सिन्हा लखनऊ लोकसभा सीट से महागठबंधन की साझा उम्मीदवार होंगी साथ ही  उन्होंने भाजपा को हराने के लिए कांग्रेस से भी इस सीट से उम्मीदवार न उतारने की अपील की।

इसे भी पढ़ें: अटल के गढ़ में राजनाथ का नामांकन, कहा- फिर बनेगी मोदी सरकार

कांग्रेस ने भी नहीं खोले हैं अपने पत्तें

सपा-बसपा-रालेद के गठबंधन और भाजपा के साथ लखनऊ सीट से दो-दो हाथ करने को कांग्रेस भी अपनी कमर कस रही है। देखना दिलचस्प होगा कि सपा की अपील पर कांग्रेस का क्या रुख रहेगा।

राजनाथ ने आज ही भरा नामांकन

आज ही राजनाथ सिंह ने लखनऊ लोकसभा सीट में रोड शो के बाद अपना नामांकन दाखिल किया है। बता दें कि लखनऊ लोकसभा सीट पर नामांकन दाखिल करने की अंतिम तिथि 18 अप्रैल है, जबकि वोटिंग 6 मई को होगी। 

इसे भी पढ़ें: योगी के मंत्री के बागी तेवर, 39 सीटों पर उतारे उम्मीदवार

भाजपा का मजबूत किला है लखनऊ 

पिछले 28 साल से भारतीय जनता पार्टी का कब्जा है और उसमें भी लंबे समय तक पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने लोकसभा में इस क्षेत्र का प्रतिनिधित्व किया। 1991, 1996,1998,1999 और 2004 के लोकसभा चुनावों में इस सीट से वाजपेयी विजयी रहे थे। 2009 में यहां से लाल जी टंडन जीते और 2014 में राजनाथ सिंह इस सीट से भारी मतों से जीतें। इस बार एक बार फिर राजनाथ सिंह यहां से भाजपा के उम्मीदवार हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept