• कोरोना वायरस से बिगड़ती मध्य प्रदेश की स्थिति को लेकर कमलनाथ ने साधा भाजपा पर निशाना

मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बृहस्पतिवार को कोविड-19 के कुप्रबंधन के लिए भाजपा नीत राज्य सरकार पर निशाना साधा और इसे प्रशासन की तरफ से की गई ‘आपराधिक लापरवाही’ बताया।

भोपाल। मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बृहस्पतिवार को कोविड-19 के कुप्रबंधन के लिए भाजपा नीत राज्य सरकार पर निशाना साधा और इसे प्रशासन की तरफ से की गई ‘आपराधिक लापरवाही’ बताया। कमलनाथ ने यहां संवाददाताओं से चर्चा करते हुए यह भी आरोप लगाया कि मध्य प्रदेश में मौत के आंकड़ों को दबाने और छिपाने का प्रयास किया जा रहा है। हालांकि, प्रदेश सरकार ने इन आरोपों को झूठा बताया है।

इसे भी पढ़ें: एक DM ऐसा भी ! कोरोना की वापसी को देखते हुए जिले में पहले ही कर ली थी पूरी तैयारी

कमलनाथ ने कहा, ‘‘मध्य प्रदेश सरकार ने दूसरी लहर के लिए कोई प्रबंध नहीं किया। हमारे स्कूल-कॉलेज बंद हो गये, परीक्षा निरस्त हो गये, लेकिन राजनीति चलती रही, रैली चलती रही।’’ उन्होंने कहा, ‘‘आज ये हालात हैं कि प्रदेश में जिस संख्या में लोगों की (कोरोना से) मृत्यु हो रही है, उसको दबाने का और छिपाने का प्रयास किया जा रहा है। श्मशान घाट एवं कब्रिस्तान में कितनी लाशें आ रही है और कितना छाप रहे हैं।’’ कमलनाथ ने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘शिवराज सिंह जी मुझे पूरे प्रदेश में एक अस्पताल का नाम बता दें जहां इंजेक्शन, दवाई, ऑक्सीजन, वेंटिलेटर एवं बिस्तर पर्याप्त मात्रा में हैं।

इसे भी पढ़ें: पुलिस द्वारा जब्त रेमडेसिविर को इस्तेमाल के लिए अस्पतालों में भेजा जाए: दिल्ली उच्च न्यायालय

और शिवराज के लिए सब कुछ पर्याप्त हो गया। ये हालात है।’’ उन्होंने आगे कहा, ‘‘और लापरवाही जो है ये एक आपराधिक लापरवाही है। मैं तो इसे आपराधिक लापरवाही कहता हूं।’’ कमलनाथ ने बताया कि मेरे (कांग्रेस) जिला अध्यक्षों ने कहा कि यह महामारी गांव-गांव में पहुंच रही है। हालांकि, मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि प्रदेश में कोविड-19 से हुई मौतों को छिपाया नहीं जा रहा है।