नेहरू की गलत नीतियों का शिकार हुआ कश्मीर, गडकरी बोले- अब भुगत रही कांग्रेस

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 24, 2019   08:28
नेहरू की गलत नीतियों का शिकार हुआ कश्मीर, गडकरी बोले- अब भुगत रही कांग्रेस

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि कांग्रेस की गलत नीतियों का शिकार हुआ है कश्मीर। कश्मीर का न तो विकास हुआ और न कश्मीर की गरीबी दूर हुई।

जयपुर। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कांग्रेस और पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू पर निशाना साधते हुए कहा है कि जम्मू कश्मीर की दुर्दशा के लिए इनकी नीतियां जिम्मेदार हैं। उन्होंने जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने को भाजपा के संघर्ष की जीत बताया। सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री गडकरी यहां ‘नये भारत का एक संकल्प एक राष्ट्र- एक संविधान’ विषय पर एक संगोष्ठी को संबोधित कर रहे थे। कश्मीर से अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों और अनुच्छेद 35 ए को हटाए जाने का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि मैं आपको बताना चाहता हूं कि पूरे देश के लोगों में यह भावना थी और सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि राज्यसभा में राजग और भाजपा का बहुमत नहीं है और जो लोग हमारा विरोध कर रहे थे, उन पार्टियों ने भी वहां इस बात का समर्थन किया। यह भी हमारी बहुत बड़ी जीत है।

इसे भी पढ़ें: चालान के लिये रोके जाने पर भड़के व्यक्ति ने फूंक दी खुद की मोटरसाइकिल

उन्होंने कहा कि कांग्रेस की गलत नीतियों का शिकार हुआ है कश्मीर। कश्मीर का न तो विकास हुआ और न कश्मीर की गरीबी दूर हुई। लगातार तुष्टिकरण की नीति के कारण कश्मीर की दुर्दशा हुई। उन्होंने कहा कि इसका सबसे बड़ा कारण अगर कोई था तो कांग्रेस की नीति और विशेष रूप से देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू की नीति थी। इतिहास का जिक्र करते हुए गडकरी ने कहा कि संविधान सभा के अध्यक्ष डा.भीमराव आंबेडकर सहित अनेक सदस्यों ने कश्मीर में अनुच्छेद 370 के विचार का विरोध किया था लेकिन नेहरू जी ने सबको दरकिनार कर दिया। गडकरी ने कहा कि शेख अब्दुला ही पंडित नेहरू के कहने पर इस मुद्दे पर बाबा साहेब आंबेडकर से मिलने के लिए आए। बाबा साहेब के विरोध के बावजूद पंडित नेहरू ने आग्रह करके इस बात को संविधान सभा में पास करने के लिए सबको मजबूर किया और यहीं बहुत बड़ी गलती हुई।

गडकरी ने कहा कि भाजपा ने कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाकर 70 साल पुरानी गलती सुधारी है। उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि अनुच्छेद 370 समाप्त करना हमारे संघर्ष की विजय है। यह हमारी प्रतिबद्धता की विजय है। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 और 35 ए हटाने के केन्द्र सरकार के फैसले के बाद वहां विकास को बल मिलेगा तथा रोजगार के नये अवसर पैदा होंगे। गडकरी ने कहा कि जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 35 ए के हटाने से होटल के साथ साथ उससे जुडे उद्योगों को बढावा मिलेगा और रोजगार के अवसर पैदा होंगे। नई तकनीक आयेगी तो नये रोजगार मिलेंगे। जम्मू कश्मीर में विकास की नई युग की शुरूआत हुई है। अब भ्रष्टाचार पर नियंत्रण लगेगा और जनता का पैसा जनता को मिलेगा।

इसे भी पढ़ें: कंपनी कर में छूट से निवेशकों का भरोसा बढ़ेगा: गडकरी

उन्होंने कहा कि उनके मंत्रालय की ओर से जम्मू कश्मीर में 60 हजार करोड रुपये के काम कराये जा रहे है। हर गांव में बिजली पानी की सुविधा मिलेगी। नौजवानों को रोजगार, बेटियों को शिक्षा और सुरक्षा मिलेगी। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 के हटाये जाने के बाद भारत सरकार के 106 ऐसे कानून है जो लागू नहीं होते थे लेकिन ये अब लागू होंगे और एससी/एसटी और ओबीसी का आरक्षण लागू होगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।