सोनिया गांधी सुबह से ही गुस्से में थीं, स्मृति ईरानी के भाषण ने उन्हें और भड़का दिया!

smriti irani sonia
Prabhasakshi
राष्ट्रपति के खिलाफ अमर्यादित टिप्पणी करके निशाने पर आये अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि अगर ज़रूरत पड़ी तो मैं राष्ट्रपति से मिलकर माफी मांगूंगा। उन्होंने कहा कि मैं कह रहा हूं कि मुझसे चूक हुई है लेकिन ये सभी मुद्दे को भटका रहे हैं।

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और गांधी परिवार के बीच जंग पुरानी है। यह जंग चुनावी मैदान में भी हुई है और एक दूसरे के खिलाफ दिये गये बयानों के माध्यम से भी। लेकिन आज इस जंग में एक नया अध्याय तब जुड़ गया जब राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के खिलाफ कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने अमर्यादित टिप्पणी कर दी। स्मृति ईरानी ने पहले सुबह-सुबह प्रेस कांफ्रेंस कर कांग्रेस पर निशाना साधा और उसके बाद संसद में दिये अपने भाषण में गांधी परिवार को आड़े हाथ लेते हुए सोनिया गांधी से मांग की कि वह अधीर रंजन की ओर से की गयी टिप्पणी के लिए देश से माफी मांगें। बस फिर क्या था? पहले ही ईडी के सवालों से परेशान हाल सोनिया गांधी एकदम से भड़क गयीं। लोकसभा में सोनिया गांधी और स्मृति ईरानी के बीच इस तरह की भिड़ंत हुई कि वह एकदम से सुर्खियां बन गयी। इस तीखी नोकझोंक को लेकर दोनों पक्षों के अपने-अपने दावे हैं।

आइये एक नजर डालते हैं इस बहस के कारणों वाली इनसाइड स्टोरी पर

दरअसल गुरुवार सुबह लोकसभा में स्मृति ईरानी ने अपने भाषण में कांग्रेस को आड़े हाथ लिया। भाषण में स्मृति ईरानी ने अधीर रंजन चौधरी के बयान को लेकर सीधे सोनिया गांधी को निशाने पर ले लिया था। उस दौरान सदन में सोनिया गांधी भी मौजूद थीं। स्मृति ईरानी की ओर से अपना नाम लिये जाने से सोनिया गांधी नाराज हो गयीं और हंगामे के बीच भाजपा की वरिष्ठ सांसद रमा देवी से बात करने पहुँच गयीं। सोनिया गांधी ने रमा देवी से शिकायत की कि इस मामले में उनका नाम नहीं लिया जाना चाहिए था। इसी दौरान स्मृति ईरानी वहां पहुंचीं और उन्होंने सोनिया गांधी से कहा कि मैंने नाम लिया है क्योंकि यह एक महिला से जुड़ा मुद्दा है। बताया जा रहा है कि इसके बाद दोनों महिला नेत्रियों के बीच बहस शुरू हो गई, जो करीब दो मिनट तक चली। हालांकि इस बहस को लेकर भाजपा और कांग्रेस की ओर से अलग-अलग दावे भी किये जा रहे हैं। भाजपा जहां सोनिया गांधी पर सांसदों को धमकाने का आरोप लगा रही हैं, वहीं कांग्रेस का दावा है कि सदन की वरिष्ठ नेता सोनिया गांधी के साथ भाजपा सांसदों ने दुर्व्यवहार किया है। इस मामले पर मीडिया से बात करते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि जब सोनिया गांधी हमारी वरिष्ठ नेता रमा देवी के पास यह जानने के लिए आईं कि क्या हो रहा था तो हमारे कुछ लोकसभा सांसदों को खतरा महसूस हुआ। निर्मला सीतारमण ने बताया कि इस दौरान हमारा एक सदस्य वहां पहुंचा और सोनिया गांधी ने उनसे कहा "आप मुझसे बात मत करो"।

इसे भी पढ़ें: राष्ट्रपति पर टिप्पणी को लेकर सोनिया गांधी का बयान- माफी मांग चुके हैं अधीर रंजन चौधरी

उधर, कांग्रेस का दावा है कि सोनिया गांधी के साथ दुर्व्यवहार किया गया। कांग्रेस का दावा है कि भाजपा के महिला और पुरुष सांसद उनके ऊपर हावी हो गए और उनके साथ बदसलूकी की गई। कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने ट्वीट कर कहा कि आज लोकसभा में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने अमर्यादित और अपमानजनक व्यवहार किया! लेकिन क्या स्पीकर इसकी निंदा करेंगे? उन्होंने पूछा कि क्या नियम सिर्फ विपक्ष के लिए होते हैं?

जहां तक सोनिया गांधी की ओर से किये गये गुस्से की बात है तो आपको बता दें कि वह आज सुबह से ही काफी गुस्से में नजर आ रही थीं। सुबह सोनिया गांधी से पत्रकारों ने जब यह पूछा कि क्या वह अधीर रंजन को माफी मांगने के लिए कहेंगी तो उन्होंने तमतमाते हुए कहा था कि वह पहले ही माफी मांग चुके हैं। हम आपको बता दें कि आमतौर सोनिया गांधी कभी इतने गुस्से में नहीं दिखती हैं। इसलिए उनके आज के व्यवहार पर सवाल उठ रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: राष्ट्रपति के लिए अधीर रंजन चौधरी ने किया अशोभनीय शब्द का इस्तेमाल, भाजपा ने साधा कांग्रेस पर निशाना

उधर, राष्ट्रपति के खिलाफ अमर्यादित टिप्पणी करके निशाने पर आये अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि अगर ज़रूरत पड़ी तो मैं राष्ट्रपति से मिलकर माफी मांगूंगा। उन्होंने कहा कि मैं कह रहा हूं कि मुझसे चूक हुई है लेकिन ये सभी मुद्दे को भटका रहे हैं। उन्होंने कहा है कि मुझे बोलने का मौका देना चाहिए। राष्ट्रपति सर्वोच्च स्थान पर हैं मैं कभी सपने में भी नहीं सोच सकता कि ऐसा कहूं।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़