स्कॉलरशिप के लिए रिश्वत लेते हुए सहायक संचालक को लोकायुक्त पुलिस ने पकड़ा

स्कॉलरशिप के लिए रिश्वत लेते हुए सहायक संचालक को लोकायुक्त पुलिस ने पकड़ा

लोकायुक्त पुलिस ने शिकायत के आधार पर पिछड़ा वर्ग एवं अल्प संख्यक कल्याण सतपुड़ा भवन भोपाल में पदस्थ एच. बी. सिंह नाम के सहायक संचालक को स्कॉलरशिप के एवज में 25000 रुपए रिश्वत लेते हुये सतपुड़ा भवन के मुख्यद्वार पर रंगेहाथ पकडा। आरोपी ने पूर्व में एक से दो लाख रुपए की मांग शिकायतकर्ता से की थी।

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में लोकायुक्त पुलिस ने पिछड़ा वर्ग एवं अल्प संख्यक कल्याण के सहायक संचालक को स्कॉलरशिप के एवज में रिश्वत लेते गिरफ्तार किया है। लोकायुक्त पुलिस ने शिकायतकर्ता कृषक वल्लभ पाटीदार निवासी मेहगांव थाना धामनोद जिला धार से उसके पुत्र हेमंत पाटीदार की स्वीकृत ओवरसीज स्कॉलरशिप एरिजोना यूनिवर्सिटी फिनिक्स सिटी यूएसए के भुगतान एवं पांच हजार डॉलर की वृद्धि करने के एवज में रिश्वत की मांग की थी। 

इसे भी पढ़ें: भोपाल बना ग्रामीण स्वच्छता परिसर बनाने वाला देश का पहला जिला

लोकायुक्त पुलिस ने शिकायत के आधार पर पिछड़ा वर्ग एवं अल्प संख्यक कल्याण सतपुड़ा भवन भोपाल में पदस्थ एच. बी. सिंह नाम के सहायक संचालक को स्कॉलरशिप के एवज में 25000 रुपए रिश्वत लेते हुये सतपुड़ा भवन के मुख्यद्वार पर रंगेहाथ पकडा। आरोपी ने पूर्व में एक से दो लाख रुपए की मांग शिकायतकर्ता से  की थी। वही बाद में वार्तालाप के दौरान आरोपी ने स्कॉलरशिप की राशि पांच हजार डॉलर बढ़ाकर चार हजार डॉलर स्वयं रखने तथा एक हजार डॉलर शिकायतकर्ता के पुत्र को देने पर सहमति व्यक्त की थी जिसके एवज में आरोपी सहायक संचालक ने  25000 रुपये लाकर देने का कहा था। 

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में बने आयुष्मान योजना के रिकॉर्ड दो करोड़ कार्ड

शिकायतकर्ता ने पुलिस अधीक्षक लोकायुक्त भोपाल को इस संबंध में दिनांक 27/01/2021 को शिकायत की थी और रिश्वत की मांग पर कार्यवाही हेतु निवेदन किया था। जिसके सत्यापन उपरांत गुरूवार को 250,000 रुपये लेते हुए लोकायुक्त पुलिस ने आरोपी सहायक संचालक को रंगेहाथों पकड़ा। आरोपी ने रिश्वत के रुपये  प्राप्त कर अपने पेंट के पीछे की जेब में रख लिये थे और अपने शासकीय वाहन MP 02 AV 4640 से घर जाने की तैयारी की तभी लोकायुक्त पुलिस ने आरोपी को दबोच लिया।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...