एक प्यार ऐसा भी, जेल में पता चला प्रेमिका है 8 माह की गर्भवती तो प्रेमी ने रचाई शादी

एक प्यार ऐसा भी, जेल में पता चला प्रेमिका है 8 माह की गर्भवती तो प्रेमी ने रचाई शादी

शादी के दौरान युवाओं की भीड़ थी और कई लोगों ने वीडियो भी बनाई जो अब काफी वायरल हो रही है। शादी के दौरान दूल्हे का रवैया काफी अजीब था। बताया जा रहा है कि, दोनों पक्षों के दबाव में लड़का शादी के लिए माना क्योंकि लड़के का पिता इस शादी में मौजुद नहीं था।

यूपी के बलिया जिले में प्रेमी ने अपनी 8 माह की गर्भवती गर्लफ्रेंड से शादी की। शादी पूरे रीति रिवाज के साथ हनुमान मंदिर में कराई गई। शादी के दौरान काफी लोगों की भीड़ के अलावा कई गंवई जनप्रतिनिधि भी मौजूद रहे। बिल्थरारोड तहसील क्षेत्र के अखोप चौराहा स्थित प्राचीन हनुमान मंदिर में 8 माह की गर्भवती प्रेमिका से प्रेमी ने शादी रचाई। इस शादी में दोनों पक्षों के परिजन भी मौजुद रहे।

खूब वायरल हो रही वीडियो

बता दें कि शादी के दौरान युवाओं की भीड़ थी और कई लोगों ने वीडियो भी बनाई जो अब काफी वायरल हो रही है। शादी के दौरान दूल्हे का रवैया काफी अजीब था। बताया जा रहा है कि, दोनों पक्षों के दबाव में लड़का शादी के लिए माना क्योंकि लड़के का पिता इस शादी में मौजुद नहीं था। शादी में लड़के की तरफ से केवल रिश्तेदार और  गांव के प्रधान मौजुद थे। प्रेमी-प्रेमिका ने एक-दूसरे को वरमाला पहनाया और शादी होने के बाद लोगों ने खुश रहने का आशीवार्द दिया। इस दौरान दूल्हे ने अपना वरमाला गले से उतार दिया था जिससे तरह-तरह की बातें चर्चा का विषय बन गई है।  

इसे भी पढ़ें: यूपी में 310 डॉक्टरों को मिला नियुक्ति पत्र, सीएम योगी ने कहा- मेडिकल हब के रूप में उभर रहा UP

एक खबर के मुताबिक, लड़का रिश्तेदार के घर आया हुआ था जहां उसे एक युवती से प्यार हो गया था। दोनों के प्रेम की बात पूरे गांव में फैल गई। इस बीच प्रेमिका की लड़ाई पट्टीदार से हो गई जिसके कारण लड़की और माता-पिता समेत भाई को जेल हो गई। जेल में जांच के दौरान पता चला कि लड़की गर्भवती है। लड़की और परिवार के जेल से बाहर आने के बाद लड़की के परिजनों ने प्रेमी के परिजन से बातचीत की। इस दौरान माहौल काफी तनावपूर्ण बना रहा। लेकिन गांव और परिजनों की बातचीत के बाद सोमवार को दोनों की शादी कराई गई।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।