कैबिनेट मंत्री की गिरफ्तारी के विरोध में महाविकास आघाडी का प्रदर्शन, नवाब मलिक की बेटी नीलोफर के साथ सांसद सुप्रिया सुले ने भी लिया हिस्सा

कैबिनेट मंत्री की गिरफ्तारी के विरोध में महाविकास आघाडी का प्रदर्शन, नवाब मलिक की बेटी नीलोफर के साथ सांसद सुप्रिया सुले ने भी लिया हिस्सा

मुंबई में महाविकास आघाडी के नेता नवाब मलिक की गिरफ़्तारी के ख़िलाफ़ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। पूरे महाराष्ट्र के कार्यकर्ता नवाब मलिक के समर्थन में और मोदी सरकार और उसकी केंद्रीय मशीनरी के विरोध में मंत्रालय के पास महात्मा गांधी की प्रतिमा के पास एकत्र हुए थे।

महाराष्ट्र के कैबिनेट मंत्री नवाब मलिक की गिरफ्तारी के खिलाफ प्रदर्शन शुरू हो गया है। महाविकास अघाड़ी सरकार के नेताओं, मंत्रियों, पदाधिकारियों और हजारों कार्यकर्ताओं ने महात्मा गांधी की प्रतिमा परिसर पर प्रदर्शन करते हुए झंडे और तख्तियां लहराईं। ऐसा ही गुस्सा मुंबई में देखने को मिला। पूरे महाराष्ट्र के कार्यकर्ता नवाब मलिक के समर्थन में और मोदी सरकार और उसकी केंद्रीय मशीनरी के विरोध में मंत्रालय के पास महात्मा गांधी की प्रतिमा के पास एकत्र हुए थे। राकांपा, शिवसेना और कांग्रेस की महिलाओं की उपस्थिति महत्वपूर्ण रही। एनसीपी नेता और सांसद सुप्रिया सुले भी मौजूद थीं। नवाब मलिक की बेटी नीलोफर मलिक खान ने भी आंदोलन में हिस्सा लिया। 

इसे भी पढ़ें: पीएमएलए अदालत ने कहा, नवाब मलिक के खिलाफ आरोप सही प्रतीत हो रहे हैं

नेता नवाब मलिक की बहन सईदा खान ने कहा कि कल गिरफ़्तारी के बाद हम कोर्ट गए थे जहां उनसे मुलाकात हुई थी। आरोप तो किसी के ऊपर भी लगा दिए जाते हैं, आरोप सिद्ध नहीं हुए हैं। उन्होंने अब तक कोई सबूत पेश नहीं किए हैं। ये कानूनी लड़ाई है और हम कानून के माध्यम से लड़ेंगे और जीतेंगे। शिवसेना के नेता संजय राउत ने नवाब मलिक की गिरफ्तारी पर कहा कि घटिया राजनीति हो रही है। जिस तरह से केंद्रीय जांच एजेंसियां का दुरुपयोग देश में हो रहा है। ये कौन सा लोकतंत्र हमारे देश में चला रहे हैं। आदित्य ठाकरे ने उत्तर प्रदेश में कहा है कि घटिया राजनीति देश में चल रही है और हम सबको उसे टक्कर देनी पड़ेगी। 

इसे भी पढ़ें: नवाब मलिक ने ईडी की हिरासत में बिताई रात, एमवीए नेताओं का विरोध प्रदर्शन

गौरतलब है कि एनसीपी नेता और महाराष्ट्र सरकार के मंत्री नवाब मलिक को मनी लॉन्ड्रिंग मामले में 3 मार्च तक ईडी की हिरासत में भेजा गया है। आज मलिक को मुंबई में चिकित्सा जांच के लिए अस्पताल ले जाया गया। मुंबई में महाविकास आघाडी के नेता उनकी गिरफ़्तारी के ख़िलाफ़ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। वहीं मुंबई पुलिस ने बृहस्पतिवार को आदेश जारी कर शहर में आठ मार्च तक रैली और विरोध-प्रदर्शन के लिए पांच से अधिक लोगों के एकत्र होने पर रोक लगा दी। पुलिस उपायुक्त (अभियान) द्वारा जारी निषेध आदेश में कारणों का उल्लेख नहीं किया गया है।  





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।