माखनलाल पत्रकारिता विश्वविद्यालय और यूनिसेफ मिलकर देंगे पाँच युवा पत्रकारों को फेलोशिप

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अक्टूबर 30, 2019   13:28
माखनलाल पत्रकारिता विश्वविद्यालय और यूनिसेफ मिलकर देंगे पाँच युवा पत्रकारों को फेलोशिप

विश्वविद्यालय के कुलपति दीपक तिवारी ने बताया कि विश्वविद्यालय ने बाल अधिकारों के संरक्षण एवं प्रचार-प्रसार में भागीदारी का निर्णय लिया है। इसके अंतर्गत विश्वविद्यालय बाल अधिकारों से जुड़े विभिन्न पक्षों को मीडिया के विभिन्न पाठ्यक्रमों में शामिल करेगा।

माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय एवं यूनिसेफ बाल अधिकारों पर साथ मिलकर काम करेंगे। इस आशय का सहमति पत्र आज विश्वविद्यालय में हस्ताक्षरित किया गया। विश्वविद्यालय के कुलपति दीपक तिवारी की उपस्थिति में यूनिसेफ की ओर से मध्यप्रदेश प्रमुख माइकल जूमा एवं विश्वविद्यालय की ओर से कुलसचिव दीपेन्द्र सिंह बघेल ने सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किये।

इसे भी पढ़ें: 5वें अंतरराष्ट्रीय विज्ञान फिल्म फेस्टिवल में दिखाई जाएगी फिल्म ‘बाचा: द राइजिंग विलेज’

विश्वविद्यालय के कुलपति दीपक तिवारी ने बताया कि विश्वविद्यालय ने बाल अधिकारों के संरक्षण एवं प्रचार-प्रसार में भागीदारी का निर्णय लिया है। इसके अंतर्गत विश्वविद्यालय बाल अधिकारों से जुड़े विभिन्न पक्षों को मीडिया के विभिन्न पाठ्यक्रमों में शामिल करेगा। बाल अधिकारों पर केन्द्रित कार्यशालाओं का आयोजन करेगा। इसके साथ ही विद्यार्थियों के लिए बाल अधिकारों पर केन्द्रित कुछ फैलोशिप भी विश्वविद्यालय द्वारा प्रदान की जायेंगी। इसका मुख्य उद्देश्य युवाओं में बाल अधिकारों के प्रति जागरूकता पैदा करना है और उन्हें बाल अधिकारों के प्रति संवेदनशील बनाना है।

यूनीसेफ के मध्यप्रदेश प्रमुख  माइकल जूमा ने बताया कि विश्व बाल अधिकार समझौते के हस्ताक्षर की 30 वीं वर्षगांठ मना रहा है। आज भी बाल अधिकारों पर सक्रियता से काम करने की आवश्यकता है। इसी को देखते हुए यूनीसेफ ने विश्वविद्यालय के साथ बाल अधिकारों के क्षेत्र में मिलकर काम करने का निर्णय लिया है। इस अवसर पर यूनीसेफ के संचार विशेषज्ञ अनिल गुलाटी विश्वविद्यालय के कुलाधिसचिव प्रो. श्रीकांत सिंह, डीन अकादमिक प्रो. पवित्र श्रीवास्तव एवं निदेशक प्रशिक्षण डा. अनुराग सीठा उपस्थित थे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।