क्या ममता बनर्जी की पार्टी में शामिल होंगे प्रशांत किशोर ? मिल रहे ये संकेत

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 29, 2020   19:45
क्या ममता बनर्जी की पार्टी में शामिल होंगे प्रशांत किशोर ? मिल रहे ये संकेत

पश्चिम बंगाल के राजनीतिक गलियारे में इस तरह की चर्चा जोरों पर है कि प्रशांत किशोर सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं। प्रशांत किशोर को जद(यू) ने बुधवार को पार्टी से निष्कासित कर दिया। तृणमूल कांग्रेस के सूत्रों के मुताबिक पार्टी की सुप्रीमो बनर्जी के साथ किशोर के बहुत अच्छे संबंध हैं।

कोलकाता। पश्चिम बंगाल के राजनीतिक गलियारे में इस तरह की चर्चा जोरों पर है कि प्रशांत किशोर सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं। प्रशांत किशोर को जद(यू) ने बुधवार को पार्टी से निष्कासित कर दिया। संपर्क किए जाने पर तृणमूल कांग्रेस के शीर्ष नेताओं ने इस तरह के किसी घटनाक्रम की पुष्टि नहीं की लेकिन निकट भविष्य में इस तरह की संभावनाओं को खारिज भी नहीं किया। 

इसे भी पढ़ें: बयान बहादुरों पर जदयू की बड़ी कार्रवाई, PK और पवन वर्मा को दिखाया गया बाहर का रास्ता

तृणमूल कांग्रेस के लिए चुनावी रणनीतिकार की भूमिका निभा रहे किशोर से पीटीआई ने संपर्क करने की कई बार कोशिशें की लेकिन जवाब नहीं मिला। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की तरह किशोर भी संशोधित नागरिकता कानून और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर की आलोचना करते रहे हैं। तृणमूल कांग्रेस के सूत्रों के मुताबिक, पार्टी की सुप्रीमो बनर्जी के साथ किशोर के बहुत अच्छे संबंध हैं। 

इसे भी पढ़ें: नीतीश के वार पर PK का पलटवार, बोले- जवाब देने के लिए बिहार आऊंगा

तृणमूल कांग्रेस के महासचिव पार्थ चटर्जी ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘चुनावी रणनीतिकार के तौर पर प्रशांत किशोर ने पार्टी के लिए बहुत अच्छा काम किया है। अब वह तृणमूल कांग्रेस से जुड़ेंगे या नहीं, इस बारे में वह (किशोर) और पार्टी के शीर्ष नेतृत्व फैसला करेंगे।’’ नाम नहीं जाहिर करने की शर्त पर तृणमूल कांग्रेस के एक नेता ने बताया कि अगर किशोर पार्टी से जुड़ना चाहें तो उनका खुले दिल से स्वागत होगा क्योंकि उनके जैसा रणनीतिकार 2021 के विधानसभा चुनाव के पहले पार्टी से जुड़े, यह उपलब्धि होगी। 

इसे भी देखें: प्रशांत किशोर की JDU से विदाई, अजय आलोक ने कहा कोरोना वायरस चला गया





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।