मोदी की संगम में डुबकी पर मायावती का तंज, कहा- पाप धुलने वाले नहीं

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 25, 2019   17:46
मोदी की संगम में डुबकी पर मायावती का तंज, कहा- पाप धुलने वाले नहीं

उन्होंने कहा कि जनता वैसे भी देश पर थोपी गई नोटबन्दी, जीएसटी, जातिवादी द्वेष, साम्प्रदायिकता, गरीबी तथा बेरोजगारी पैदा करने के लिये मोदी सरकार को इतनी आसानी से माफ नहीं करने वाली है।

लखनऊ। बसपा अध्यक्ष मायावती ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कुम्भ के दौरान रविवार को संगम में डुबकी लगाये जाने पर तंज किया है। मायावती ने सोमवार को यहां एक बयान में कहा कि मोदी ने प्रयागराज में संगम में डुबकी भले लगा ली हो लेकिन पिछले पांच वर्षों के दौरान उनकी सरकार की घोर वादाख़िलाफी, जनता के प्रति विश्वासघात तथा अनेक अन्य प्रकार की सरकारी ज़ुल्म-ज़्यादती और पाप धुलने वाले नहीं हैं।

उन्होंने कहा कि जनता वैसे भी देश पर थोपी गई नोटबन्दी, जीएसटी, जातिवादी द्वेष, साम्प्रदायिकता, गरीबी तथा बेरोजगारी पैदा करने के लिये मोदी सरकार को इतनी आसानी से माफ नहीं करने वाली है। मायावती ने कहा कि जहां तक चुनाव से ऐन पहले केन्द्र की भाजपा सरकार द्वारा किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों को छह हज़ार रुपये प्रतिवर्ष दिये जाने का सवाल है, तो यह स्पष्ट है कि मोदी सरकार को खेत-खलिहान और किसान के बारे में आधी-अधूरी समझ है। वास्तव में यह योजना दैनिक मजदूरी करने वाले भूमिहीन खेतिहर मज़दूरों के लिये होनी चाहिये थी, ना कि किसानों के लिये। 

इसे भी पढ़ें: पीएम मोदी ने पवित्र संगम में लगाई डुबकी, स्वच्छाग्रहियों के चरण धोए

उन्होंने कहा कि किसानों को किसी भी प्रकार की तुच्छ सरकारी भेंट नहीं बल्कि अपनी उपज का लाभकारी मूल्य चाहिये। भाजपा सरकार केवल इसी को सुनिश्चित कर दे तो यह उनके लिये बहुत होगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।