दशकों तक राजनीतिक दुश्मन रहे मुलायम के लिए वोट मांगेंगी मायावती

By अनुराग गुप्ता | Publish Date: Mar 15 2019 12:14PM
दशकों तक राजनीतिक दुश्मन रहे मुलायम के लिए वोट मांगेंगी मायावती
Image Source: Google

सपा-बसपा और आरएलडी का गठबंधन चुनावों के लिए नवरात्र के बाद से प्रचार अभियान की शुरूआत करेंगे। जिसके तहत वो 7 अप्रैल के दिन देवबंद से संयुक्त रैली करने वाले हैं।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी नीत वाली सरकार को हराने के लिए विपक्षी दलों ने गठबंधन किया है। इस गठबंधन में सपा-बसपा और आरएलडी शामिल हैं। इसी के तहत समाजवादी पार्टी ने अपने उम्मीदवारों की पहली सूची जारी कर दी थी, जिसमें उन्होंने सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव को मैनपुरी से टिकट दिया है। यहां से वर्तमान में सांसद तेज प्रताप हैं। बता दें कि इस बार के लोकसभा चुनाव में सपा के साथ गठबंधन होने की वजह से बसपा प्रमुख मायावती मुलायम सिंह यादव के लिए वोट मांगती हुई दिखाई देंगी।

इसे भी पढ़ें: चंद्रशेखर से प्रियंका की मुलाकात पर ख़फा मायावती, अमेठी-रायबरेली से उतारेंगी अपना कैंडिडेट

सपा-बसपा और आरएलडी का गठबंधन चुनावों के लिए नवरात्र के बाद से प्रचार अभियान की शुरूआत करेंगे। जिसके तहत वो 7 अप्रैल के दिन देवबंद से संयुक्त रैली करने वाले हैं। जिसके बाद मायावती मुलायम सिंह के लिए वोटरों से अपील करेंगी कि मैनपुरी में मुलायम को भारी बहुमत से जिताया जाए। हालांकि, गृह राज्य से पहले मायावती 2 अप्रैल के दिन ओडिशा में प्रचार शुरू करेंगी।

इसे भी पढ़ें: मायावती ने दिया कांग्रेस को जोर का झटका, कहा- कांग्रेस के साथ नहीं होगा कोई समझौता

उल्लेखनीय है कि कांग्रेस के साथ अनौपचारिक तौर पर जारी इस गठबंधन को मायावती ने पूरी तरह से समाप्त कर दिया। इसी के तहत उन्होंने अमेठी और रायबरेली से अपने उम्मीदवार उतारने का निर्णय लिया था। हालांकि, अब देखना यह बाकी है कि क्या कांग्रेस के आलाकमान अखिलेश परिवार के खिलाफ अपने उम्मीदवार नहीं उतारने के फैसले पर दोबारा विचार करते हैं कि नहीं।



 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video