कर्नाटक के मेडिकल कॉलेजों में 'नोट के बदले सीट' घोटाला, आयकर विभाग ने किया पर्दाफाश

Income Tax
सीबीडीटी की ओर से जारी बयान के मुताबिक, बेंगलुरु एवं मंगलुरु में पंजीकृत नौ बड़े ट्रस्ट पर बुधवार को की गई छापेमारी के दौरान इन अनियमित्ताओं का खुलासा हुआ।

नयी दिल्ली। आयकर विभाग ने कर्नाटक के कुछ मेडिकल कॉलेज में कथित तौर पर पैसे के जरिए सीट खरीदने के घोटाले का पर्दाफाश करने का दावा किया है। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने कहा है कि इन संस्थानों द्वारा प्रतिव्यक्ति शुल्क के नाम पर 400 करोड़ रुपये से अधिक का कालाधन एकत्र किया गया। सीबीडीटी की ओर से जारी बयान के मुताबिक, बेंगलुरु एवं मंगलुरु में पंजीकृत नौ बड़े ट्रस्ट पर बुधवार को की गई छापेमारी के दौरान इन अनियमित्ताओं का खुलासा हुआ। ये ट्रस्ट मेडिकल कॉलेज समेत अन्य शैक्षणिक संस्थानों का संचालन करते हैं। 

इसे भी पढ़ें: कर्नाटक में विधान परिषद की एक सीट पर 15 मार्च को होगा उपचुनाव 

बयान में कहा गया, ‘‘ कर्नाटक और केरल के 56 स्थानों पर तलाशी अभियान चलाया गया। ऑनलाइन प्रवेश में फर्जीवाड़ा करके प्रतिव्यक्ति शुल्क के तौर पर अब तक 402.78 करोड़ रुपये वसूले जाने के साक्ष्य मिले हैं और इनकी जानकारी आयकर विभाग को नहीं दी गई थी।’’ सीबीडीटी ने कहा कि न्यासियों के आवासों पर ली गई तलाशी के दौरान15 करोड़ रुपये से अधिक नकद, 30 करोड़ रुपये कीमत के सोने के जेवरात, 50 कैरेट हीरे और 40 किलोग्राम चांदी के गहने मिले हैं और वे प्रथम दृष्टया इनका विवरण देने में असफल रहे हैं। इसके अलावा, विदेश में संपत्ति के बारे में भी जानकारी मिली है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़