गोपनीय चंदा जुटाने की मोदी की कोशिश को अदालत ने नाकाम किया : येचुरी

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Apr 12 2019 3:47PM
गोपनीय चंदा जुटाने की मोदी की कोशिश को अदालत ने नाकाम किया : येचुरी
Image Source: Google

कोशिश नाकाम होने की राह पर है। येचुरी ने कहा, ‘‘कालेधन के रास्ते दान देने वाले अब इस राह को अपनाने से डरेंगे। आज चुनाव आयोग को दान का ब्योरा मिलेगा कल यह ब्योरा जनता की पहुंच में होगा।

नयी दिल्ली। माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने शुक्रवार को कहा कि चुनावी बांड के संबंध में उच्चतम न्यायालय के फैसले ने राजनीतिक दलों को मिलने वाली दान राशि की पारदर्शिता को नुकसान पहुंचाने की भाजपा की कोशिश नाकाम कर दी है। येचुरी ने ट्वीट कर कहा, ‘‘उच्चतम न्यायालय ने गोपनीय चुनावी बॉंड का कानून बनाने वाले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, वित्त मंत्री अरुण जेटली और भाजपा की पहल को ध्वस्त कर दिया है। अदालत ने कहा है कि पारदर्शिता चुनावी चंदे का मूल आधार है। जनता को यह जानने का अधिकार है कि किस दल को कहां से कितना पैसा दान में मिला है।’’

इसे भी पढ़ें: येचुरी ने भाजपा के घोषणापत्र को ‘जुमलों का एक और पिटारा’ करार दिया

उन्होंने कहा कि चुनावी बॉंड में दानदाता की पहचान उजागर नहीं करने का प्रावधान लागू करने की भाजपा की कोशिश नाकाम होने की राह पर है। येचुरी ने कहा, ‘‘कालेधन के रास्ते दान देने वाले अब इस राह को अपनाने से डरेंगे। आज चुनाव आयोग को दान का ब्योरा मिलेगा कल यह ब्योरा जनता की पहुंच में होगा।

सेना के पूर्व वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा राष्ट्रपति को पत्र लिख कर राजनीतिक लाभ के लिये सेना के पराक्रम का इस्तेमाल करने पर नाराजगी जताने के मामले में येचुरी ने कहा, ‘‘लोकतांत्रिक व्यवस्था में हमारे सैन्य बल अपने निर्धारित दायित्वों का निर्वाह कर रहे हैं। जब सत्तारूढ़ दल उनके नाम का दुरुपयोग करेगा तो इससे सेना और लोकतंत्र का स्तर गिरेगा।’’

इसे भी पढ़ें: ISI और इमरान दोनों की यही चाह, भारत में बनें मोदी की सरकार: येचुरी

येचुरी ने कहा कि इस मामले में सत्तारूढ़ दल के नेताओं के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई ही इसका एकमात्र समाधान है। उल्लेखनीय है कि सेना के लगभग 150 पूर्व अधिकारियों ने राष्ट्रपति को एक कथित पत्र लिखकर लोकसभा चुनाव में सेना के पराक्रम का राजनीतिक लाभ के लिये इस्तेमाल किये जाने की शिकायत की है। 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video