प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सीबीएसई की 12वीं परीक्षा में उत्तीर्ण छात्रों को बधाई दी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जुलाई 30, 2021   17:18
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सीबीएसई की 12वीं परीक्षा में उत्तीर्ण छात्रों को बधाई दी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की परीक्षा में उत्तीर्ण होने वाले छात्रों को शुक्रवार को बधाई दी और उनके बेहतर भविष्य की कामना की।

नयी दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की परीक्षा में उत्तीर्ण होने वाले छात्रों को शुक्रवार को बधाई दी और उनके बेहतर भविष्य की कामना की। साथ ही उन्होंने उन छात्रों की भी हौसलाआफजाई की जिनका प्रदर्शन बेहतर नहीं रहा और उन्हें अनुभवों से सीखने तथा सिर उठाकर जीने की सलाह दी। सीबीएसई ने आज को 12वीं परीक्षा के परिणाम घोषित किए। हर बार की तरह इस बार भी लड़कियों ने बाजी मारी है और लड़कों की तुलना में उनके परिणाम 0.54 प्रतिशत अंतर से बेहतर रहे जबकि करीब 70,000 विद्यार्थियों ने 95 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त किए।

इसे भी पढ़ें: पीओके चुनाव पर भारत की टिप्पणी से बौखलाया पाकिस्तान, भारतीय राजनयिक को किया तलब

परिणाम आने के बाद प्रधानमंत्री ने सिलसिलेवार ट्वीट कर कहा कि इस बार अप्रत्याशित परिस्थितियों में 12वीं की परीक्षा में छात्रों को शामिल होना पड़ा और शिक्षा जगत को पूरे साल कई तरह की चुनौतियों को सामना करना पड़ा लेकिन इसके बावजूद उन्होंने अपना सर्वश्रेष्ठ किया। उन्होंने कहा, ‘‘जिन्होंने सफलतापूर्वक 12वीं की परीक्षा उत्तीर्ण की उन युवा साथियों को बहुत बधाई। उनके सुनहरे, सुखी और स्वस्थ भविष्य की शुभकामनाएं।’’ प्रधानमंत्री ने कहा कि जिन छात्रों को लगता है कि उन्हें और ज्यादा मेहनत करना चाहिए या बेहतर प्रदर्शन करना चाहिए था, उन्हें अपने अनुभवों से सीख लेनी चाहिए और सिर उठाकर जीना चहिए। उन्होंने कहा, ‘‘एक सुनहरा और मौकों से परिपूर्ण भविष्य आपका आगे है।

इसे भी पढ़ें: नगीना वल्लभ बासमती-1 नामक नए चावल की खूबियां जानकर रह जाएंगे दंग

आप सभी प्रतिभा के पावरहाउस हैं। मेरी शुभकामनाएं हमेशा आपके साथ हैं।’’ सीबीएसई के मुताबिक कुल 70,004 विद्यार्थियों ने 95 प्रतिशत से अधिक अंक और 1,50,152 विद्यार्थियों ने 90 प्रतिशत से अधिक हंक हासिल किए। इसके अलावा 6149 विद्यार्थी पूरक श्रेणी में हैं। बोर्ड की परीक्षाएं कोविड-19 की दूसरी आक्रामक लहर के मद्देनजर इस साल रद्द कर दी गई थी और परिणाम बोर्ड द्वारा वैकल्पिक मूल्यांकन नीति के आधार पर घोषित किए गए हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।