प्रियंका गांधी ने मोदी को बताया कायर प्रधानमंत्री, बोलीं- सवाल उठने पर पिछली सरकारों को ठहराते हैं जिम्मेदार

प्रियंका गांधी ने मोदी को बताया कायर प्रधानमंत्री, बोलीं- सवाल उठने पर पिछली सरकारों को ठहराते हैं जिम्मेदार

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि चुनाव के समय किए गए वादे झूठे निकले। सच्चाई आपके सामने है। उन्होंने कहा कि यह सिर्फ अहंकारी प्रधानमंत्री नहीं हैं, कायर प्रधानमंत्री भी हैं।

मथुरा। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने मंगलवार को मथुरा की किसान महापंचायत को संबोधित किया। इस दौरान प्रियंका गांधी ने केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि ये जो कानून बनाए गए है उसका मकसद कुछ और है। प्रधानमंत्री जी कहते हैं कि आपकी भलाई के लिए कानून बनाए गए हैं और विपक्ष के लोग आपको गुमराह कर रहे हैं। लेकिन मैं आपसे पूछना चाहती हूं कि देशभर में ऐसा कोई किसान है जिससे सरकार ने पूछा हो। 

इसे भी पढ़ें: प्रियंका गांधी का UP सरकार पर हमला, कहा- माफियाओं के लिए चलाई जा रही है सरकार 

उन्होंने कहा कि इस कानून को नोटो की खेती करने वालों ने बनाया है और यह उन्हीं के लिए बना है। कुछ वक्त पहले बजट था और आपने देखा होगा हवाई अड्डे, बंदरगाह, एलआईसी, भारत पेट्रोलियम सबकुछ बिक रहे हैं। मानिए कि भाजपा सरकार ने बेचने की ऐसी भांग डाली है कि कुछ नहीं पता, आप गोवर्धन पर्वत को संभाल कर रखिए।

उन्होंने कहा कि इनके शासनकाल में डीजल-पेट्रोल में टैक्स से केंद्र ने 21 लाख 50 हजार करोड़ रुपए एकत्रित किए हैं और खरबपती मित्रों के 8 लाख करोड़ रुपए कर्जा माफ किया है लेकिन किसानों का एक रुपए माफ नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि आप अपने अधिकारों की लड़ाई लड़ रहे हैं और आपका मजाक उठाया जा रहा है। 

इसे भी पढ़ें: मोदी सरकार पर प्रियंका गांधी का हमला, कहा- बॉर्डर को ऐसा बनाया गया जैसे देश की सीमा हो 

उन्होंने कहा कि समझ नहीं आ रहा पीएम मोदी जी की किसानों से कौन सी दुश्मनी है। जब आपने ही उनको प्रधानमंत्री बनाया है तो फिर आपको वो इस तरह से क्यों ठुकरा रहे हैं। आपने देखा होगा, आपकी समस्याओं को सुनने की बजाय संसद में आपकी बेज्जती की है। आपको आंदोलनजीवी, परिजीवी कहा। उनके मंत्रियों ने आपको देशद्रोही और आंतकवादी कहा।

प्रियंका गांधी ने कहा कि चुनाव के समय किए गए वादे झूठे निकले। सच्चाई आपके सामने है। उन्होंने कहा कि यह सिर्फ अहंकारी प्रधानमंत्री नहीं हैं, कायर प्रधानमंत्री भी हैं। क्योंकि जैसे ही इनकी नीतियों और निर्णयों पर सवाल उठता है तो वह एक दम से पीछे हटकर पिछली सरकारों को जिम्मेदार ठहराते हैं।

सुनिए पूरा भाषण: 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।