PM Modi In NCC Rally: मोदी बोले- राष्ट्रभक्ति से बड़ी कोई भक्ति नहीं होती, युवा हमारे संकल्पों को करेंगे पूरा

PM Modi In NCC Rally: मोदी बोले- राष्ट्रभक्ति से बड़ी कोई भक्ति नहीं होती, युवा हमारे संकल्पों को करेंगे पूरा

अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने कहा कि जैसे-जैसे देश मजबूत दृष्टि के साथ आगे बढ़ रहा है, हम एनसीसी को और सशक्त बनाने के लिए भी कदम उठा रहे हैं। एक उच्च स्तरीय समीक्षा समिति का गठन किया गया है। पिछले 2 वर्षों में, हमने देश के सीमावर्ती क्षेत्रों में 1 लाख नए कैडेट विकसित किए हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज नेशनल कैडेट कॉर्प्स रैली को दिल्ली के करिअप्पा ग्राउंड में संबोधित किया। इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि इस समय देश अपनी आज़ादी का अमृत महोत्सव मना रहा है। और जब एक युवा देश, इस तरह के किसी ऐतिहासिक अवसर का साक्षी बनता है, तो उसके उत्सव में एक अलग ही उत्साह दिखता है। यही उत्साह मैं अभी करियप्पा ग्राउंड में देख रहा हूं। मोदी ने कहा कि मुझे गर्व है कि मैं भी कभी आपकी तरह ही एनसीसी का सक्रिय कैडेट रहा हूँ। मुझे एनसीसी में जो ट्रेनिंग मिली, जो जानने सीखने को मिला, आज देश के प्रति अपनी ज़िम्मेदारियों के निर्वहन में मुझे उससे असीम ताकत मिलती है। मोदी ने जोर देते हुए कहा कि राष्ट्रभक्ति से कोई भक्ति बड़ी नहीं हो सकती।

अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने कहा कि जैसे-जैसे देश मजबूत दृष्टि के साथ आगे बढ़ रहा है, हम एनसीसी को और सशक्त बनाने के लिए भी कदम उठा रहे हैं। एक उच्च स्तरीय समीक्षा समिति का गठन किया गया है। पिछले 2 वर्षों में, हमने देश के सीमावर्ती क्षेत्रों में 1 लाख नए कैडेट विकसित किए हैं। उन्होंने कहा कि देश भर के 90 विश्वविद्यालयों ने एनसीसी को वैकल्पिक विषय के रूप में चुना है। यहां गर्ल कैडेट्स की संख्या दर्शाती है कि भारत के विचार बदल रहे हैं। देश को आपकी भागीदारी और सेवा की जरूरत है और कई क्षेत्रों में महिलाओं के लिए अपार अवसर हैं। अब देश की बेटियाँ सैनिक स्कूलों में एड्मिशन ले रही हैं। सेना में महिलाओं को बड़ी जिम्मेदारियाँ मिल रही हैं। एयरफोर्स में देश की बेटियाँ फाइटर प्लेन उड़ा रही हैं। ऐसे में हमारा प्रयास होना चाहिए कि एनसीसी में भी ज्यादा से ज्यादा बेटियाँ शामिल हों। 

इसे भी पढ़ें: चुनावी फसल काटने के लिए बजट में MSP को लेकर बड़ी घोषणा कर सकती है सरकार

मोदी ने आगे कहा कि आज जब दुनिया भारत को इतनी आशा और आकांक्षाओं से देख रही है, भारत अपने प्रयासों में कमजोर नहीं हो सकता। आज, जब हम आजादी का अमृत महोत्सव मनाते हैं, हमारे युवा यह सुनिश्चित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं कि हम अपनी गति को जारी रखें। उन्होंने कहा कि भारत के युवा स्टार्ट-अप के मामले में देश को दुनिया के टॉप-3 में ले गए हैं। आज इस समय जितने भी युवक-युवतियां NCC में हैं, NSS में हैं, उसमें से ज्यादातर इस शताब्दी में ही पैदा हुए हैं। आपको ही भारत को 2047 तक लेकर जाना है। इसलिए आपकी कोशिशें, आपके संकल्प, उन संकल्पों की सिद्धि, भारत की सिद्धि होगी, भारत की सफलता होगी। उन्होंने कहा कि जिस देश का युवा, राष्ट्र प्रथम की सोच के साथ आगे बढ़ने लगता है, उसे दुनिया की कोई ताकत रोक नहीं सकती। आज खेल के मैदान में, भारत की सफलता भी इसका एक बड़ा उदाहरण है।

इसे भी पढ़ें: बजट में अर्थव्यवस्था में व्यापक असमानता को पाटने, रोजगार सृजन पर होना चाहिए जोर : सुब्बाराव

मोदी ने कहा कि कुछ लोग हमारे समाज को कोसते हैं। लेकिन इसी समाज ने दिखा दिया कि जब बात देश की हो तो उससे बढ़कर कुछ नहीं। जब सही दिशा मिले, सही उदाहरण मिले तो हमारा देश कितना कुछ करके दिखाता है, है उसका उदाहरण है। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित करना आपकी जिम्मेदारी है कि एनसीसी में आपने जो कुछ सीखा है, वह न केवल आपकी वर्दी में होने पर, बल्कि समाज में भी लागू होता है। आप अपने क्षेत्रों में कई टीमें बना सकते हैं, इसे अपने समाजों में लागू कर सकते हैं और जमीनी स्तर पर बदलाव कर सकते हैं। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।