लोगों को भय में रखकर शासन करना चाहते हैं मोदी: चिदंबरम

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Apr 26 2019 10:12AM
लोगों को भय में रखकर शासन करना चाहते हैं मोदी: चिदंबरम
Image Source: Google

चिदंबरम ने सवाल किया, भारत को सुरक्षित रखने का क्या मतलब है, जब अलग-अलग वर्ग- महिलाएं, दलित, अनुसूचित जनजाति, अल्पसंख्यक, शिक्षाविद, लेखक, पत्रकार असुरक्षित हों?

भाजपा को जिताए

नयी दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर लोगों को भय के वातावरण में रख कर भारत पर शासन करने की सोच रखने का आरोप लगाते हुये कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने शुक्रवार को कहा कि लोग ऐसे देश के लिए वोट करेंगे जहां लोगों के मन में भय नहीं हो। पूर्व गृह मंत्री ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पर उनके उस बयान को लेकर निशाना साधा जिसमें उन्होंने कहा था कि कांग्रेस भारत को सुरक्षित नहीं रख सकती।

उन्होंने सवाल किया कि 1947, 1965 और 1971 के तीन लड़ाइयों में देश को किसने सुरक्षित रखा था? उन्होंने पूछा, ‘‘अगर समाज के विभिन्न वर्गों के लोगों- महिलाओं, दलितों, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अल्पसंख्यक, शिक्षाविद, लेखक, पत्रकार आदि असुरक्षित हैं तो भारत को सुरक्षित रखने का क्या मतलब है?’’नोबेल पुरस्कार विजेता रवीन्द्रनाथ ठाकुर की लिखी कविता के भाव को उद्धृत करते हुए चिदंबरम ने कहा, ‘‘मोदी सोचते हैं कि वह लोगों को डर के वातावरण में रख कर भारत पर शासन कर सकते हैं। लोग एक ऐसे देश के लिए वोट करेंगे ‘जहां मन में भय नहीं हो...।

इसे भी पढ़ें: किसी भी राष्ट्रीय पार्टी को सरकार बनाने लायक सीटें नहीं मिलेंगी: पटनायक

 


 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video