पति को था अपनी पत्नी के चरित्र पर शक, गुस्से में मां ने अपने डेढ़ साल के बेटे की गला घोंटकर कर दी हत्या

death
कोतमा के अनुविभागीय अधिकारी पुलिस (एसडीओपी) एस एस बघेल ने बताया, ‘‘रविवार आधी रात के कुछ ही समय बाद 26 वर्षीय महिला अपने घर के कमरे से बाहर आई और कहने लगी उसका बेटा जवाब नहीं दे रहा है। परिवार के सदस्यों ने बच्चे की नाक से खून निकलते हुए देखा।

अनूपपुर (मप्र)। मध्यप्रदेश के अनूपपुर जिले में एक महिला ने अपने डेढ़ साल के बेटे की कथित तौर पर गला घोंटकर हत्या कर दी। जानकारी के मुताबिक महिला ने यह कदम पति द्वारा बच्चे का डीएनए परीक्षण कराने की मांग करने और बच्चे का जैविक पिता होने से इंकार करने के बाद उठाया। पुलिस ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि यह घटना कुछ दिन पहले जिला मुख्यालय से करीब 60 किलोमीटर दूर बिजुरी इलाके में घटी थी।

इसे भी पढ़ें: रमजान के दौरान रोजा रखने वाले कर्मचारियों को मिली राहत, इस राज्य सरकार ने ऑफिस ड्यूटी से दी एक घंटे की छूट

कोतमा के अनुविभागीय अधिकारी पुलिस (एसडीओपी) एस एस बघेल ने बताया, ‘‘रविवार आधी रात के कुछ ही समय बाद 26 वर्षीय महिला अपने घर के कमरे से बाहर आई और कहने लगी उसका बेटा जवाब नहीं दे रहा है। परिवार के सदस्यों ने बच्चे की नाक से खून निकलते हुए देखा।’’ उन्होंने कहा कि पुलिस ने मामले की जांच शुरू की। परिजनों के बयान दर्ज करने के बाद पता चला कि बच्चे के पिता को पत्नी के चरित्र पर शक था और उसने बच्चे को अपना बेटा मानने से इंकार कर दिया। वह बच्चे का डीएनए जांच कराना चाहता था। बघेल ने बताया कि व्यक्ति का आरोप है कि जब उसकी पत्नी अपने मायके अकेली गई थी, तब वह गर्भवती हुई थी। बघेल ने कहा कि घटना की जांच और बच्चे के शव की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पता चला कि महिला ने ही अपने बच्चे की गला दबाकर हत्या की है।उन्होंने बताया कि महिला के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 302 (हत्या) के तहत मामला दर्ज किया गया है और उसे गिरफ्तार किया गया है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़