भाजपा को सबक सिखाने की तैयारी में मुकेश सहनी, अखिलेश और तेजस्वी का कर रहे धन्यवाद

भाजपा को सबक सिखाने की तैयारी में मुकेश सहनी, अखिलेश और तेजस्वी का कर रहे धन्यवाद

आने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर उत्तर प्रदेश में मुकेश सहनी निषाद वोटों को एकजुट करने की कोशिश में है। यही कारण है कि वह लखनऊ और वाराणसी सहित बड़े शहरों में फूलन देवी की प्रतिमा स्थापित करना चाह रहे थे। इसी सिलसिले में वह वाराणसी भी पहुंचे थे।

राजनीति में कौन किसकी तरफ कब जा सकता है, इसके बारे में कहना बड़ा ही मुश्किल होता है। बिहार में एनडीए गठबंधन का हिस्सा और नीतीश सरकार में मंत्री मुकेश सहनी उत्तर प्रदेश में राजनीतिक संभावनाओं को देखते हुए आजकल राज्य का खूब दौरे रह रहे हैं। इन सबके बीच मुकेश सहनी भाजपा से नाराज हो गए हैं। दरअसल, पूरा मामला उत्तर प्रदेश का है। पूरा का पूरा मामला फूलन देवी की जयंती पर हुए घटनाक्रम का है जिसको लेकर मुकेश सहनी नाराज चल रहे हैं और उन्होंने सार्वजनिक तौर पर उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर निशाना साधा है।

इसे भी पढ़ें: UP चुनाव को लेकर हुए सर्वे का दावा, 43% लोगों की पहली पसंद योगी, प्रियंका सबसे निचले पायदान पर रहीं

दरअसल, आने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर उत्तर प्रदेश में मुकेश सहनी निषाद वोटों को एकजुट करने की कोशिश में है। यही कारण है कि वह लखनऊ और वाराणसी सहित बड़े शहरों में फूलन देवी की प्रतिमा स्थापित करना चाह रहे थे। इसी सिलसिले में वह वाराणसी भी पहुंचे थे। लेकिन उन्हें एयरपोर्ट के बाहर निकलने ही नहीं दिया गया और दूसरी फ्लाइट से सीधे कोलकाता भेज दिया गया।  इतना ही नहीं, फूलन देवी की प्रतिमा को भी जप्त कर लिया गया। योगी सरकार के इस रवैया से मुकेश सहनी नाराज हो गए है। इसके बाद से मुकेश सहनी भाजपा को सबक सिखाने के लिए उत्तर प्रदेश में 150 से अधिक सीटों पर अपने उम्मीदवारों को उतारने का ऐलान कर चुके हैं।

इसे भी पढ़ें: UP चुनाव 2022: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अयोध्या विधानसभा सीट से लड़ सकते हैं चुनाव

साथ ही साथ मुकेश सहनी उत्तर प्रदेश में गठबंधन की संभावनाओं को लेकर भी आगे बढ़ रहे हैं। दरअसल, उन्होंने अखिलेश यादव और तेजस्वी यादव का धन्यवाद किया है। तेजस्वी यादव और अखिलेश यादव ने फूलन देवी की जयंती पर उनकी तस्वीर के साथ उन्हें याद किया था जिसको लेकर मुकेश साहनी ने दोनों का धन्यवाद किया है। सबसे खास बात यह है कि मुकेश सहनी ने दोनों के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए धन्यवाद किया है जिससे राजनीतिक कयासों को बल मिल रहा है। माना जा रहा है कि आने वाले चुनाव में अखिलेश यादव और मुकेश सहनी की पार्टी के बीच गठबंधन भी हो सकता है। हालांकि दूसरी ओर बिहार में तेजस्वी यादव से नाराज होकर महागठबंधन को मुकेश सuनी ने छोड़ा था> लेकिन आजकल वह तेजस्वी यादव के प्रशंसक बन गए हैं जिससे कि बिहार में भी अलग अलग कयासों का दौर शुरू हो गया है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।