MLC सीट नहीं मिलने से नाराज हुए मुकेश सहनी, कहा: भाजपा-जदयू की हिटलरशाही नहीं चलेगी

mukesh sahani
अंकित सिंह । Jan 30, 2022 4:29PM
मुकेश सहनी ने कहा कि बिहार में सरकार मांझी और रहने की वजह से ही खड़ी है। जदयू और भाजपा को लगता है कि वह बहुत शक्तिशाली हैं और उन्होंने सही फैसला लिया है। यह हिटलरशाही जैसा है।

विधान परिषद चुनाव को लेकर बिहार की राजनीति दिलचस्प मोड़ पर खड़ी हुई है। बिहार विधान परिषद की 24 सीटों पर चुनाव होने हैं। इन 24 सीटों को लेकर एनडीए में घमासान छिड़ गया है। बिहार में एनडीए के दो प्रमुख दल यानी कि जदयू और भाजपा के बीच सीटों का बंटवारा हो गया है। भाजपा जहां 13 सीटों पर चुनाव लड़ रही है तो वहीं जदयू 11 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारेगी। लेकिन एनडीए के और सहयोगी जीतन राम मांझी और मुकेश सहनी की पार्टी को फिलहाल विधान परिषद की कोई सीट नहीं दी गई है। अब इसी को लेकर विकासशील इंसान पार्टी के अध्यक्ष मुकेश सहनी भड़क गए हैं। मुकेश सहनी जबरदस्त तरीके से भाजपा और जदयू पर हमला कर रहे हैं।

मुकेश सहनी ने कहा कि बिहार में सरकार मांझी और रहने की वजह से ही खड़ी है। जदयू और भाजपा को लगता है कि वह बहुत शक्तिशाली हैं और उन्होंने सही फैसला लिया है। यह हिटलरशाही जैसा है। इसके साथ ही मुकेश सहनी ने दावा किया कि हम अपने दम पर सभी 24 सीटों पर चुनाव लड़ने जा रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि बिहार की सरकार अब केवल भाजपा और जदयू की ही सरकार बन कर रह गई है। मुकेश सहनी लगातार निषाद आरक्षण की मांग करते रहते हैं। भाजपा का बिना नाम लिए उन्होंने कहा कि कुछ लोग निषाद समाज के वोट बैंक को अपनी जागीर समझ रहे हैं। यह उनका बड़ा भ्रम है। 

इसे भी पढ़ें: Bihar MLC चुनाव: NDA में हो गया टिकट बंटवारा, मांझी-सहनी को नहीं मिली जगह, पारस को मिली वैशाली सीट

केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता भूपेंद्र यादव ने संयुक्त संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा 13 सीटों पर और नीतीश कुमार की पार्टी 11 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। भाजपा को आवंटित 13 सीटों में से एक सीट उसकी सहयोगी पशुपति कुमार पारस के नेतृत्व वाली राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी (रालोजपा) को दी जाएगी। भाजपा रोहतास, औरंगाबाद, सारण, सीवान, दरभंगा, किशनगंज, कटिहार, सहरसा, गोपालगंज, बेगूसराय, पूर्वी चंपारण और समस्तीपुर सीटों पर चुनाव लड़ेगी जबकि रालोजपा वैशाली से चुनाव लड़ेगी। जद (यू) पटना, भोजपुर, गया, नालंदा, मुजफ्फरपुर, पश्चिम चंपारण, सीतामढ़ी, भागलपुर, मुंगेर, नवादा और मधुबनी से अपने उम्मीदवार उतारेगी।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़