मुलायम सिंह की बहू अपर्णा यादव बीजेपी में शामिल, कहा- पीएम मोदी और योगी आदित्यनाथ की नीतियों से प्रभावित हुई

Aparna Yadav
रेनू तिवारी । Jan 19, 2022 10:54AM
त्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव की बहू अपर्णा यादव आज डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य और बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह की मौजूदगी में बीजेपी में शामिल हो गईं। यूपी विधानसभा चुनाव 2022 से पहले बीजेपी में शामिल होने के बाद अपर्णा यादव ने कहा, मैं पीएम मोदी के काम की प्रशंसा करती हूं।

दिल्ली । उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव की बहू अपर्णा यादव आज डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य और बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह की मौजूदगी में बीजेपी में शामिल हो गईं। यूपी विधानसभा चुनाव 2022 से पहले बीजेपी में शामिल होने के बाद अपर्णा यादव ने कहा, मैं पीएम मोदी के काम की प्रशंसा करती हूं। मैं भाजपा का बहुत आभारी हूं। मेरे लिए देश हमेशा सबसे पहले आता है। 

पिछले काफी समय से  अपर्णा यादव समाजवादी पार्टियों की नीतियों से खुश नहीं रही हैं। अपर्णा यादव ने अतीत में, समाजवादी पार्टी लाइन के विपरीत, एनआरसी, अनुच्छेद 370 को निरस्त करने का समर्थन किया था। उन्होंने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए 11 लाख रुपये का दान भी दिया। 

इसे भी पढ़ें: Covid-19 Cases In India | कोरोना के मामलों में फिर उछाल, 2,82,970 नये केस और 441 लोगों की मौत

कौन हैं अपर्णा यादव? उनके बारे में जानने के लिए 5 बातें

अपर्णा यादव मुलायम सिंह की दूसरी पत्नी साधना गुप्ता के बेटे प्रतीक यादव की पत्नी हैं। अपर्णा और प्रतीक ने 2011 में शादी की और उनकी एक बेटी है। 2017 में अपर्णा ने लखनऊ कैंट विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा और बीजेपी की रीता बहुगुणा जोशी से हार गईं थी। अपर्णा यादव के पिता अरविंद सिंह बिष्ट पत्रकार हैं और यूपी के वर्तमान राज्य सूचना आयुक्त हैं। उनकी मां अंबी बिष्ट लखनऊ नगर निगम की अधिकारी हैं। अपर्णा ने मैनचेस्टर विश्वविद्यालय से अंतरराष्ट्रीय संबंधों और राजनीति में स्नातकोत्तर किया। अपर्णा यादव ने समाजवादी पार्टी के रुख के विपरीत राष्ट्रीय नागरिक पंजी का समर्थन किया। उन्होंने धारा 370 को खत्म करने का भी समर्थन किया था।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़