एमवीए सरकार के नौकर की तरह काम कर रही मुंबई पुलिस : देवेंद्र फडणवीस

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 26, 2022   12:04
एमवीए सरकार के नौकर की तरह काम कर रही मुंबई पुलिस : देवेंद्र फडणवीस
ani

महाराष्ट्र विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस ने मुंबई पुलिस पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता किरीट सोमैया पर शिवसैनिकों द्वारा कथित “हमले” को गंभीरता से नहीं लेने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि शहर की पुलिस महा विकास अघाडी (एमवीए) सरकार के नौकरों की तरह काम कर रही है।

मुंबई। महाराष्ट्र विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस ने मुंबई पुलिस पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता किरीट सोमैया पर शिवसैनिकों द्वारा कथित “हमले” को गंभीरता से नहीं लेने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि शहर की पुलिस महा विकास अघाडी (एमवीए) सरकार के नौकरों की तरह काम कर रही है। फडणवीस ने इस संबंध में केंद्रीय गृह सचिव अजय कुमार भल्ला को एक पत्र लिखा है।

इसे भी पढ़ें: नवनीत राणा को सेशन कोर्ट से नहीं मिली राहत, 29 अप्रैल को होगी जमानत पर सुनवाई

24 अप्रैल को भेजे पत्र में उन्होंने भल्ला से राज्य में बिगड़ती कानून व्यवस्था और विपक्षी नेताओं के मूल अधिकारों के हनन का संज्ञान लेने का आग्रह किया है और इस संबंध में सख्त कार्रवाई करने की मांग की है। विधानसभा में विपक्ष के नेता फडणवीस ने कहा कि सोमैया ने खार पुलिस को सूचित किया था कि वह शनिवार रात निर्दलीय सांसद नवनीत राणा और उनके विधायक पति रवि राणा से मिलने आ रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: दो दिन की गिरावट के बाद बाजार में तेजी, सेंसेक्स 658 अंक चढ़ा, निफ्टी 17,160 के करीब

फडणवीस के मुताबिक, राणा दंपति से मिलने के बाद सोमैया ने पुलिस को बताया कि उन पर हमला किया जा सकता है। उन्होंने उपनगरीय मुंबई के खार पुलिस थाने (जहां दंपति को गिरफ्तारी के बाद ले जाया गया था) के बाहर जमा भीड़ को तितर-बितर किए जाने की मांग की थी। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस को आसन्न खतरे के बारे में सूचित करने के बावजूद भीड़ को तितर-बितर नहीं किया गया और सोमैया पर हमला हुआ।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।