'बागी विधायकों पर आती है शर्म, बाढ़ के बीच में उठा रहे आनंद', आदित्य ठाकरे बोले- हमें हमारे लोगों ने दिया धोखा

Shiv Sena Aaditya Thackeray
प्रतिरूप फोटो
ANI Image
बागी विधायकों पर निशाना साधते हुए महाराष्ट्र सरकार में मंत्री आदित्य ठाकरे ने कहा कि वे गुवाहाटी गए जहां पर बाढ़ की स्थिति है और कई लोग आश्रय और भोजन के बिना हैं। वे (बागी विधायक) वहां मौज कर रहे हैं। एक दिन में भोजन का बिल 9 लाख रुपए है, वे प्राइवेट हेलिकॉप्टर ले रहे हैं।

मुंबई। महाराष्ट्र सरकार में मंत्री और शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे ने सोमवार की देर शाम मुंबई के भायखला में शिवसैनिकों को संबोधित किया। इस दौरान आदित्य ठाकरे ने कहा कि महा विकास अघाडी की सरकार आगे भी जारी रहेगी। जिस शक्ति ने हमें यहां लाया है... हम दिल्ली में भी सत्ता में आएंगे। दरअसल एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में शिवसेना के 40 विधायक और कुछ निर्दलीय विधायकों ने गुवाहाटी के रेडिसन ब्लू होटल में डेरा जमाया हुआ है। 

इसे भी पढ़ें: शिंदे के दावे पर भाजपा की बैठक में हुई चर्चा, इंतजार के मूड में नजर आ रही पार्टी, महाराष्ट्र और जनता के हित में लेगी निर्णय 

बागियों पर आती है शर्म

इसी बीच आदित्य ठाकरे महाविकास अघाड़ी सरकार को लेकर आत्मविश्वास से ओत-प्रोत दिखाई दिए। उन्होंने कहा कि महा विकास अघाडी की सरकार आगे भी जारी रहेगी। जिस शक्ति ने हमें यहां लाया है... हम दिल्ली में भी सत्ता में आएंगे। बागी विधायकों पर निशाना साधते हुए आदित्य ठाकरे ने कहा कि वे गुवाहाटी गए जहां पर बाढ़ की स्थिति है और कई लोग आश्रय और भोजन के बिना हैं। वे (बागी विधायक) वहां मौज कर रहे हैं। एक दिन में भोजन का बिल 9 लाख रुपए है, वे प्राइवेट हेलिकॉप्टर ले रहे हैं और वहां आनंद उठा रहे हैं। उन पर शर्म आती है। 

इसे भी पढ़ें: क्या शिंदे कैंप का मनसे में होगा विलय ? बागियों के पास मौजूद है 3 पार्टियों का विकल्प, एकनाथ ने राज ठाकरे से फोन पर की थी बात 

आदित्य ठाकरे ने कहा कि इन विधायकों ने खुद को लाखों-करोड़ों रुपए में या उनकी फाइलें खोले जाने के बाद बेचा है। उन्होंने कहा कि कई लोगों ने हमसे कहा कि कांग्रेस और एनसीपी हमें धोखा देंगे लेकिन हमारे लोगों ने हमें धोखा दिया। कई विधायक जो चौकीदार, रिक्शा चालक और पान के दुकानदार थे, हमने उन्हें मंत्री बनाया। 20 मई को उद्धव ठाकरे ने उन्हें (एकनाथ शिंदे) मुख्यमंत्री पद की पेशकश की और उन्होंने नाटक किया।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़