मेरी सरकार स्थिर, मिलकर चुनाव लड़ेंगे सहयोगी दल: उद्धव ठाकरे

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 27, 2020   18:49
मेरी सरकार स्थिर, मिलकर चुनाव लड़ेंगे सहयोगी दल: उद्धव ठाकरे

उन्होंने जोर दिया कि उनकी सरकार स्थिर है और गठबंधन के सहयोगियों को वैचारिक रूप से भिन्न माना जाता है, लेकिन राज्य के हित और लोगों के कल्याण तीनों दलों को एक जुट करते हैं।

(मनीषा रेगे) मुंबई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शुक्रवार को कहा कि सत्तारूढ़ महा विकास अघाडी (एमवीए) के सहयोगी दल बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) के चुनाव सहित सभी चुनाव मिलकर लड़ेंगे। शिवसेना-राकांपा- कांग्रेस गठबंधन सरकार का शनिवार को एक साल पूरा हो रहा है। इस मौके पर ठाकरे (60) ने दक्षिण मुंबई स्थित अपने आधिकारिक निवास ‘वर्षा’ में चुनिंदा मीडिया से बातचीत की। ठाकरे ने कहा, एमवीए बीएमसी चुनाव (2022 में) सहित सभी चुनाव एक साथ लड़ेगा।’’ उन्होंने कहा कि उन्हें इस अटकल पर प्रतिक्रिया देने की जरूरत नहीं महसूस हुई कि गठबंधन के सहयोगी दल अलग अलग चुनाव लड़ेंगे। उन्होंने जोर दिया कि उनकी सरकार स्थिर है और गठबंधन के सहयोगियों को वैचारिक रूप से भिन्न माना जाता है, लेकिन राज्य के हित और लोगों के कल्याण तीनों दलों को एक जुट करते हैं। 

इसे भी पढ़ें: अजित पवार ने कार्तिकी एकादशी पर विट्ठल के मंदिर में ने कोरोना वायरस संक्रमण का टीका शीघ्र आने की प्रार्थना की

ठाकरे ने कहा, ‘‘विगत में हम एक वैचारिक गठबंधन में थे लेकिन उस विचारधारा की नींव (विश्वास पर) पर विश्वासघात किया गया था।’’ शिवसेना और भाजपा का गठबंधन 1995-1999 और 2014-19 में सरकार में था। ठाकरे ने राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों कांग्रेस और राकांपा के साथ सरकार बनाने के लिए अपनी पार्टी के गठबंधन का बचाव किया और कहा कि शिवसेना का गठबंधन ऐसी सहयोगी (भाजपा) से था जिनकी सोच संकुचित है। अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत मामले में पुत्र आदित्य और भूमि सौदे में पत्नी रश्मि को भाजपा द्वारा निशाना बनाए जाने का जिक्र करते हुए ठाकरे ने कहा, अब आप महसूस करेंगे कि जब हम भाजपा के साथ गठबंधन में थे तब क्या हुआ था। विकृत सोच अब उजागर हो गयी है। ठाकरे ने कहा कि पिछले साल नहीं भूलने वाला मौका 25 से 30 साल पुराने दोस्त द्वारा विश्वासघात था। 

इसे भी पढ़ें: महाराष्ट्र सरकार के सफलतम एक वर्ष, उद्धव ठाकरे ने सत्ता में मजबूत की अपनी पकड़

उन्होंने कहा कि शिवसेना ने नीतिगत मामलों पर भाजपा की आलोचना की थी और परिवार के सदस्यों को निशाना नहीं बनाया। ठाकरे ने हिंदुत्व के मुद्दे पर कहा, हिंदुत्व की मेरी परिनहीं बदली है। यह सुसंस्कृत है और भाजपा की तरह दूषित नहीं है। हिंदुत्व में संस्कृति बहुत महत्वपूर्ण है। ठाकरे ने भूमि सौदे के संबंध में भाजपा के दावे का जिक्र करते हुए कहा, ‘‘जब हम आपके (भाजपा) साथ थे , तो हम अच्छे हैं। भूमि सौदे तब हुए, जब आप सरकार में थे।’’ उन्होंने कहा कि उन्हें निशाना बनाने वाले भाजपा नेता सभी बाहरी हैं और वे मूल भाजपा के नहीं हैं। उन्होंने कहा, ‘‘क्या भाजपा अब बाहरी लोगों द्वारा चलाई जा रही है।’’ उनकी राष्ट्रीय महत्वाकांक्षाओं के बारे में पूछे जाने पर ठाकरे ने कहा कि भाजपा के खिलाफ महाराष्ट्र में तीन दलों के गठबंधन ने राष्ट्रीय स्तर पर एक संदेश दिया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।