नगालैंड सरकार ने शांति का आह्वान किया, हिमंत बिस्वा सरमा करेंगे कोहिमा का दौरा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 8, 2021   08:56
नगालैंड सरकार ने शांति का आह्वान किया, हिमंत बिस्वा सरमा करेंगे कोहिमा का दौरा

नगालैंड सरकार ने मंगलवार को कहा कि मोन जिले में स्थिति नियंत्रण में है। इसने नगा समूहों से जटिल राजनीतिक मुद्दे के स्थायी समाधान की दिशा में काम करने और शांति सुनिश्चित करने का आह्वान किया।

कोहिमा। नगालैंड सरकार ने मंगलवार को कहा कि मोन जिले में स्थिति नियंत्रण में है। इसने नगा समूहों से जटिल राजनीतिक मुद्दे के स्थायी समाधान की दिशा में काम करने और शांति सुनिश्चित करने का आह्वान किया। मंत्री नीबा क्रोनू ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि नगा राजनीतिक मुद्दे पर सरकार की कोर कमेटी के सदस्य गोलीबारी की घटना में आम लोगों के मारे जाने के बाद अपनाए जाने वाले रुख को लेकर असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा के साथ कोहिमा में नौ दिसंबर को बैठक करेंगे, जो पूर्वोत्तर लोकतांत्रिक गठबंधन (एनईडीए) के संयोजक भी हैं।

उन्होंने कहा, हम सभी को एक साथ (नगा राजनीतिक मुद्दे के) समाधान के लिए एक बार और सभी के लिए काम करना चाहिए, क्योंकि हम इसे अब और जारी नहीं रख सकते हैं। हम सभी गंभीरता से समाधान के लिए काम करें ताकि हम सभी शांति से रहें। योजना और समन्वय, भूमि राजस्व और संसदीय मामलों के मंत्री क्रोनू ने कहा, भारत सरकार बहुत गंभीर है और इसलिए समाधान लाने के वास्ते कड़ी मेहनत करने का समय आ गया है।

उग्रवादियों के धोखे में सेना की गोलीबारी में लोगों की मौत की घटना के शांति प्रक्रिया पर प्रभाव के बारे में पूछे जाने पर, जनजातीय मामलों के मंत्री तेमजेन इम्ना अलोंग ने कहा कि राज्य में नेफ्यू रियो के नेतृत्व वाली सरकार बहुत मजबूत और स्थिर है। मोन जिले से असम राइफल्स की वापसी की मांग पर, क्रोनू ने कहा, हमें इस पर गौर करना होगा और यदि संभव हुआ तो भारत सरकार के साथ एक समझ स्थापित करनी होगी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।