अनियंत्रित मिसाइल हैं नवजोत सिंह सिद्धू ! प्रियंका गांधी ने की मुलाकात, क्या राहुल गांधी भी मिलेंगे ?

अनियंत्रित मिसाइल हैं नवजोत सिंह सिद्धू ! प्रियंका गांधी ने की मुलाकात, क्या राहुल गांधी भी मिलेंगे ?

नवजोत सिंह सिद्धू मंगलवार को पार्टी आलाकमान से मुलाकात के लिए दिल्ली पहुंचे थे। लेकिन राहुल गांधी ने मुलाकात की बातों से इनकार कर दिया था। पत्रकारों ने जब सिद्धू से उनकी मुलाकात की संभावना को लेकर सवाल किया तो उन्होंने कहा कि उनकी और सिद्धू की कोई मुलाकात तय नहीं है।

नयी दिल्ली। कांग्रेस की पंजाब इकाई में अंर्तकलह को दूर करने के लिए चल रहे प्रयासों के बीच पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की कांग्रेस आलाकमान से मुलाकात को लेकर संशय बरकरार है। हालांकि उम्मीद जताई जा रही है कि पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी बुधवार को सिद्धू से मुलाकात कर सकते हैं। इसी को लेकर पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी ने राहुल गांधी से उन्हीं के आवास में मुलाकात की है। 

इसी बीच नवजोत सिंह सिद्धू ने प्रियंका गांधी से मुलाकात की। उन्होंने मुलाकात की एक तस्वीर भी साझा की। जिसमें उन्होंने लिखा कि प्रियंका गांधी के साथ एक लंबी मुलाकात की।

इसे भी पढ़ें: पंजाब कांग्रेस में सुलह का रास्ता साफ ! अमरिंदर सिंह ने सुझाया फॉर्मूला 

बता दें कि नवजोत सिंह सिद्धू मंगलवार को पार्टी आलाकमान से मुलाकात के लिए दिल्ली पहुंचे थे। लेकिन राहुल गांधी ने मुलाकात की बातों से इनकार कर दिया था। पत्रकारों ने जब सिद्धू से उनकी मुलाकात की संभावना को लेकर सवाल किया तो उन्होंने कहा कि उनकी और सिद्धू की कोई मुलाकात तय नहीं है।

अनियंत्रित मिसाइल हैं सिद्धू

शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने नवजोत सिंह सिद्धू पर निशाना साधा और उन्हें गुमराह मिसाइल बताया। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक शिअद अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू अनियंत्रित गुमराह मिसाइल हैं। तो खुद को भी नष्ट कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि आज पंजाब को अभिनय करने वाले की नहीं बल्कि विकास के बारे में सोचने वाले की जरूरत है। 

इसे भी पढ़ें: सिद्धू से घमासान, बार-बार दिल्ली बुलाए जाने से परेशान, कैप्टन कर सकते हैं अलग पार्टी बनाने का ऐलान? 

उन्होंने कहा कि 4 साल में पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पंजाब का आर्थिक बुनियादी ढांचा खराब कर दिया इसलिए यहां बिजली पूरी नहीं आ रही है और बिजली की कटौती हो रही है। कैप्टन अमरिंदर सिंह की नीयत साफ नहीं है।

गौरतलब है कि पंजाब में कांग्रेस के भीतर की कलह को दूर करने के प्रयास के तहत राहुल गांधी ने हाल के दिनों में पार्टी के कई नेताओं के साथ मंथन किया। पार्टी की तीन सदस्यीय समिति ने भी 100 से अधिक नेताओं और मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के साथ मंत्रणा की।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।