चीन के साथ बातचीत का नहीं निकला कोई नतीजा, राजनाथ बोले- जो हमें छेड़ेगा उसे हम छोड़ेंगे नहीं

चीन के साथ बातचीत का नहीं निकला कोई नतीजा, राजनाथ बोले- जो हमें छेड़ेगा उसे हम छोड़ेंगे नहीं

चीन पर बरसते हुए रक्षा मंत्री ने कहा कि यदि कोई देश विस्तारवादी है और भारत की भूमि पर कब्जा करने की कोशिश करता है तो भारत के अंदर वह ताकत है कि वह अपनी जमीन किसी दूसरे के हाथ में नहीं जाने देगा।

भारत-चीन तनाव को लेकर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बड़ा बयान दिया है। राजनाथ सिंह ने कहा कि दोनों देशों के बीच जो बातचीत चल रही थी उसमें अभी तक कोई बड़ी कामयाबी नहीं मिली है। अभी भी यथास्थिति बनी हुई है। उन्होंने कहा कि अगले राउंड की भी बैठक होगी उसमें मिलिट्री लेवल पर बातचीत होगी। चीन पर बरसते हुए रक्षा मंत्री ने कहा कि यदि कोई देश विस्तारवादी है और भारत की भूमि पर कब्जा करने की कोशिश करता है तो भारत के अंदर वह ताकत है कि वह अपनी जमीन किसी दूसरे के हाथ में नहीं जाने देगा।

जब रक्षा मंत्री से यह पूछा गया कि 2020 में जो कुछ भी सीमा पर हुआ उसमें क्या चीन और पाकिस्तान के मिलीभगत थी, इस पर उन्होंने कहा कि मैं इसके बारे में ज्यादा कुछ नहीं कहना चाहता लेकिन जो हमें छेड़ेगा उसे हम छोड़ेंगे नहीं। कृषि संबंधी कानूनों को लेकर रक्षा मंत्री ने कहा कि यह जो तीन कानून बने हैं, किसानों के हितों को ध्यान में रखकर बनाए गए हैं। पिछली सरकारों की तुलना में हमने न्यूनतम समर्थन मूल्य काफी बढ़ाई है। इन तीनों कानूनों के माध्यम से हमने पूरी कोशिश की है यह किसानों की आमदनी दो-तीन गुना बढ़े। किसान आंदोलन को लेकर उन्होंने कहा कि मुझे उम्मीद है कि बातचीत से इसका समाधान निकलेगा। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।