एनआईए ने श्रीनगर में आतंकियों के वित्तपोषण मामले में कार्यकर्ता को हिरासत में लिया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 23, 2021   08:52
एनआईए ने श्रीनगर में आतंकियों के वित्तपोषण मामले में कार्यकर्ता को हिरासत में लिया
प्रतिरूप फोटो

एजेंसी ने कहा था कि आठ अक्टूबर 2020 को भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) और गैर कानूनी गतविधि रोकथाम कानून (यूएपीए) की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया था।

श्रीनगर| राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) ने आतंकियों के वित्तपोषण मामले में विभिन्न स्थानों पर छापेमारी के सिलसिले में सोमवार को यहां एक मानवाधिकार कार्यकर्ता को हिरासत में लिया। अधिकारियों ने यह जानकारी दी।

अधिकारियों ने कहा कि ‘जम्मू कश्मीर कोलिशन ऑफ सिविल सोसाइटी’ के समन्वयक खुर्रम परवेज को शहर में उनके सोनावर आवास पर छापेमारी के दौरान हिरासत में लिया गया।

इसे भी पढ़ें: राजस्थान के तीन मंत्रियों का सोनिया को पत्र, पद छोड़कर पार्टी के लिए काम करने की इच्छा जताई

पिछले साल 28 अक्टूबर को एनआईए ने कुछ तथाकथित गैर सरकारी संगठनों और ट्रस्टों द्वारा धर्मार्थ गतिविधियों के नाम पर भारत तथा विदेश में धन जुटाने और फिर उन पैसों का इस्तेमाल जम्मू कश्मीर में अलगाववादी गतिविधियों को अंजाम देने के मामले में घाटी में परवेज के आवास सहित 10 स्थानों और बेंगलुरु में एक स्थान की तलाशी ली थी।

एजेंसी ने कहा था कि आठ अक्टूबर 2020 को भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) और गैर कानूनी गतविधि रोकथाम कानून (यूएपीए) की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया था।

एनआईए के मुताबिक उसे पुख्ता जानकारी मिली थी कि कुछ एनजीओ और ट्रस्ट ने तथाकथित दान और व्यावसायिक योगदान के माध्यम से देश और विदेश से धन एकत्र कर उनका उपयोग केंद्र शासित प्रदेश में आतंकवादी गतिविधियों के वित्तपोषण के लिए किया।

इसे भी पढ़ें: जमानत देने के लिए कठिन शर्तें लगाना जमानत से इनकार करने के समान: न्यायालय





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।