पीएफआई से संपर्क के संदेह में एनआईए ने सामुदायिक भवन पर मारा छापा

PFI
ANI
राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) ने शुक्रवार को दक्षिण कन्नड़ जिले के बंतवाल तालुका के मित्तूर में ‘फ्रीडम’ सामुदायिक भवन पर छापा मारा। एजेंसी को संदेह था कि पीएफआई के कर्मचारियों को भवन के परिसर में प्रशिक्षित किया गया था।

मेंगलुरु। राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) ने शुक्रवार को दक्षिण कन्नड़ जिले के बंतवाल तालुका के मित्तूर में ‘फ्रीडम’ सामुदायिक भवन पर छापा मारा। एजेंसी को संदेह था कि पीएफआई के कर्मचारियों को भवन के परिसर में प्रशिक्षित किया गया था।

इसे भी पढ़ें: केजरीवाल ने वायु प्रदूषण से निपटने के लिए 15 सूत्री शीतकालीन कार्य योजना की घोषणा की

पुलिस सूत्रों ने कहा किसामुदायिक भवन का संचालन करने वाले न्यास के न्यासियों में से एक अयूब अग्नाडी को एनआईए के अधिकारियों द्वारा गिरफ्तार किया गया था जबकि एक अन्य न्यासी मसूद अग्नाडी फरार है। एनआईए को संदेह है कि बंतवाल, पुत्तूर और सुल्लिया के सूनसान इलाकों में प्रतिबंधित पीएफआई के कार्यकर्ताओं को आतंकी हमलों को अंजाम देने के लिये प्रशिक्षण दिया गया था।

इसे भी पढ़ें: गुजरात में एंबुलेंस को रास्ता देने के लिए रुका प्रधानमंत्री मोदी का काफिला

सूत्रों ने कहा कि मित्तूर के फ्रीडम सामुदायिक भवन में राज्य के कई युवाओं को प्रशिक्षित किए जाने का संदेह है। न्यास ने इस सामुदायिक भवन को 2007 में खोला था। उन्होंने कहा कि भगोड़े न्यासी मसूद की तलाश की जा रही है। एनआईए ने इससे पहले भारतीय जनता युवा मोर्चा के नेता प्रवीण नेत्तार की हत्या की जांच के सिलसिले में छह सितंबर को सामुदायिक भवन पर छापा मारा था।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़