भाजपा में शामिल होने वाली निदा खान को मिल रही जान से मारने की धमकी, पहले भी जारी हो चुका है फतवा

भाजपा में शामिल होने वाली निदा खान को मिल रही जान से मारने की धमकी, पहले भी जारी हो चुका है फतवा

निदा ने दावा किया कि उनसे यह भी कहा जा रहा है कि भाजपा मुसलमानों का समर्थन नहीं करती है और यही कारण है कि यह मुसलमानों की पार्टी नहीं है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मुझे कहा जा रहा है कि आपने भाजपा के लिए प्रचार किया है जो मुसलमानों के खिलाफ है।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा में शामिल होने वाली निदा खान को जान से मारने की धमकी मिल रही है। निदा का दावा है कि मुस्लिम समाज के लोगों ने उन्हें भाजपा में शामिल होने के बाद शादी समारोह में आने पर भी पाबंदी लगा दी है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि एक परिवारिक शादी समारोह के दौरान उनके रिश्तेदारों ने उन पर भाजपा छोड़ने का दबाव बनाया। उन्होंने कहा कि मैं भीड़ से घिर गई थी और मुझे मामूली चोट भी आई है। निदा ने दावा किया कि उनसे यह भी कहा जा रहा है कि भाजपा मुसलमानों का समर्थन नहीं करती है और यही कारण है कि यह मुसलमानों की पार्टी नहीं है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मुझे कहा जा रहा है कि आपने भाजपा के लिए प्रचार किया है जो मुसलमानों के खिलाफ है।

इस मामले को लेकर निदा खान ने एक प्राथमिकी भी दर्ज कराई है। बरेली के एसएसपी रोहित सिंह सजवान ने बताया कि शिकायतकर्ता ने एक विशेष पार्टी में शामिल होने के कारण रिश्तेदारों द्वारा उसे सामाजिक बहिष्कार की धमकी देने की शिकायत दर्ज कराई है। 6 लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर इस पर जांच की जा रही है। निदा ने अपने पति और ससुराल वालों पर मुकदमा दर्ज कराया है। बताया जा रहा है कि निदा खान एक शादी समारोह में शामिल होने गई थीं जहां अचानक से उनके रिश्तेदार उन पर हावी होने लगे। उनसे कहा गया कि आप भाजपा को छोड़ें तभी उन्हें निकाह समारोह में शामिल होने की अनुमति दी जाएगी।

इसे भी पढ़ें: भ्रष्ट अफसरों के खिलाफ शुरू हुआ योगी का एक्शन, अवैध खनन मामले में सोनभद्र के डीएम सस्पेंड

आपको बता दें कि निदा खान बरेली की आला हजरत खानदान की बहू हैं और तीन तलाक की पीड़िता की भी हैं। चुनाव के दौरान उन्होंने भाजपा में शामिल होने का निर्णय लिया था। योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ की थी। इसके बाद उनके खिलाफ फतवा भी जारी हुआ था। फतवे में निदा खान और उसके परिवार वालों को इस्लाम से खारिज करने की बात कही गई थी। हुक्का पानी बंद करने का भी दावा किया गया था। कुल मिलाकर देखें तो निदा खान मामले को लेकर अब पुलिस सक्रिय हो गई है और लगातार इसकी जांच कर रही है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।