बिहार में नाइट कर्फ्यू, मंदिर, सिनेमा हॉल और जिम रहेंगे बंद, शादियों में शामिल हो सकेंगे सिर्फ 50 लोग

बिहार में नाइट कर्फ्यू, मंदिर, सिनेमा हॉल और जिम रहेंगे बंद, शादियों में शामिल हो सकेंगे सिर्फ 50 लोग

बिहार में कोरोनावायरस के मामलों में लगातार वृद्धि हो रही है। एनएमसीएच के 100 से ज्यादा डॉक्टर संक्रमित हो गए हैं। जबकि पिछले 24 घंटों की बात की जाए तो बिहार में 1 दिन में 893 नए मामले सामने आए हैं। राजधानी पटना में सबसे ज्यादा 565 नए मामले आए हैं।

बिहार में कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों को लेकर आज आपदा प्रबंधन समूह की बैठक हुई। इस बैठक में कई महत्वपूर्ण फैसले लिए गए हैं। कोरोना महामारी की तीसरी लहर को ध्यान में रखते हुए राज्य में कई पाबंदियों को लागू किया गया है। हालांकि फिलहाल लॉकडाउन को लेकर फैसला नहीं लिया गया है। बिहार सरकार के मुताबिक के 21 जनवरी तक सभी धार्मिक स्थल बंद रहेंगे। इसके अलावा मॉल, सिनेमा हॉल, क्लब, स्विमिंग पूल, स्टेडियम, जिम, पार्क भी बंद रहेंगे। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप में कई और बड़े फैसले ले लिए गए हैं।

बिहार सरकार के आदेश के मुताबिक नौवीं तथा उच्चतर शिक्षा के लिए संस्थान 50% क्षमता के साथ खोले जा सकेंगे। वैवाहिक समारोह व श्राद्ध कार्यक्रमों में अधिकतम 50 लोगों को अनुमति होगी। दुकानें एवं निजी प्रतिष्ठान रात 8 बजे तक खोले जा सकेंगे। वहीं आपता प्रबंधन विभाग की बैठक में निर्णय लिया गया है कि 6 जनवरी से 21 जनवरी तक बिहार में रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक रात्रि कर्फ्यू लागू रहेगा। कक्षा-8 तक स्कूल बंद रहेंगे। सरकारी और गैर सरकारी कार्यालय 50% क्षमता के साथ कार्य करेंगे। 

इसे भी पढ़ें: अश्विनी चौबे: नीतीश के खिलाफ मुखर रहने वाले वह नेता जिन्हें पीएम बनने के बाद मोदी ने दिया इनाम

बिहार में कोरोनावायरस के मामलों में लगातार वृद्धि हो रही है। एनएमसीएच के 100 से ज्यादा डॉक्टर संक्रमित हो गए हैं। जबकि पिछले 24 घंटों की बात की जाए तो बिहार में 1 दिन में 893 नए मामले सामने आए हैं। राजधानी पटना में सबसे ज्यादा 565 नए मामले आए हैं। वही गया में 460 नए मामले सामने आए हैं। राज्य में सक्रिय मामलों की संख्या 2222 है। इसके साथ ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का जनता दरबार भी अगले आदेश तक स्थगित रहेगा और समाज सुधार यात्रा भी स्थगित रहने वाला है। आठवीं तक की कक्षाएं ऑनलाइन चलेंगी।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।