केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी व मुख्यमंत्री ने 1407 करोड़ रुपये की 19 परियोजनाओं का किया उद्घाटन व शिलान्यास

Union Minister Nitin Gadkari
उन्होंने कहा कि श्री गडकरी ने 3 बड़ी परियोजनाएं हरियाणा को दी जिनमें दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस वे, दिल्ली-कटरा एक्सप्रेस वे जो रोहतक -जींद-कैथल होते हुए जाएगा और इस्माइलाबाद से नारनौल तक की परियोजनाएं शामिल हैं। उन्होंने कहा कि इंफ्रास्ट्रक्चर लंबे समय तक आर्थिक विकास की गति को बनाए रखता है, इसलिए हमने अगले वित वर्ष के बजट में इंफ्रास्ट्रक्चर को अत्यंत महत्व दिया है।

चंडीगढ़  केन्द्रीय सड़क, परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री  नितिन गडकरी और हरियाणा के मुख्यमंत्री  मनोहर लाल ने आज गुरुग्राम जिला में राष्ट्रीय राजमार्ग-48 पर पंचगांव चौंक पर आयोजित कार्यक्रम में दिल्ली-जयपुर हाईवे पर आवागमन सुगम बनाने के लिए 1407 करोड़ रुपये की 19 परियोजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण किया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने हरियाणा को राजमार्ग के बड़े प्रोजेक्ट देने के लिए श्री गडकरी का आभार व्यक्त किया और कहा कि हरियाणा प्रदेश में 17 नए राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाएं वर्तमान सरकार के कार्यकाल में मंजूर की गई जिनमें से 11 राजमार्गों पर काम चल रहा है और 6 पर निर्माण कार्य शुरू होने को है।

उन्होंने कहा कि श्री गडकरी ने 3 बड़ी परियोजनाएं हरियाणा को दी जिनमें दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस वे, दिल्ली-कटरा एक्सप्रेस वे जो रोहतक -जींद-कैथल होते हुए जाएगा और इस्माइलाबाद से नारनौल तक की परियोजनाएं शामिल हैं। उन्होंने कहा कि इंफ्रास्ट्रक्चर लंबे समय तक आर्थिक विकास की गति को बनाए रखता है, इसलिए हमने अगले वित वर्ष के बजट में इंफ्रास्ट्रक्चर को अत्यंत महत्व दिया है।

इसे भी पढ़ें: शिक्षा मंत्री कंवर पाल ने हकृवि में स्पीड ब्रीडिंग और माइक्रोमेटेरोलॉजी लैब का किया उद्घाटन

उन्होंने कहा कि गुरुग्राम-मानेसर में एक हजार एकड़ में ग्लोबल सिटी बनाई जाएगी । इसके लिए हरियाणा राज्य औद्योगिक एवं अवसंरचना विकास निगम आवश्यक कार्यवाही करेगा और उन्होंने विश्वास दिलाया कि इसी वर्ष इसका निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा में सड़को का जाल फैला हुआ है और जो कुछ कमी होगी उसे केन्द्रीय मंत्री श्री गडकरी दूर कर देंगे।

इसे भी पढ़ें: एफडीए की टीम ने जिला करनाल के असंध में 50 एमटीपी किटों को किया जब्त

मुख्यमंत्री ने  गडकरी के समक्ष पानीपत से डबवाली तक तथा पानीपत से सिवानी तक राष्ट्रीय राजमार्ग मंजूर करने की मांग भी रखी। इसके साथ उन्होंने यह भी कहा कि पूरे देश में सबसे ज्यादा अच्छी सड़के हरियाणा में हैं।

प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि यह योजना श्री गडकरी की परिकल्पना से बनी थी और प्रधानमंत्री श्री मोदी के नेतृत्व व श्री गडकरी के मार्गदर्शन में हरियाणा के ग्रामीण क्षेत्र में 957 किलोमीटर लंबाई की सड़के बनाई जा रही हैं। उन्होंने कहा कि पिछले 2 वर्षों में इस योजना के तहत 1450 किलोमीटर लंबाई की सड़के बनाई गई जिससे ग्रामीण विकास को बढ़ावा मिला।

इसे भी पढ़ें: गरीब से गरीब व्यक्ति का उत्थान करना सरकार का लक्ष्य - मुख्यमंत्री

एनसीआर क्षेत्र में 10 वर्ष पुराने डीजल चालित वाहनों को सड़को से हटाने के एनजीटी के आदेश का उल्लेख करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि ट्रेक्टर पर 2022 तक छूट है और वर्तमान में चल रहे हरियाणा विधानसभा के सत्र में हम ऐसा कानून बनाएंगे जिससे कि ट्रेक्टर को सन् 2025 तक छूट मिल जाए।

इस मौके पर श्री गडकरी ने कहा कि 225 किलोमीटर लंबाई के दिल्ली-जयपुर मार्ग पर 513 करोड रुपये की लागत से 16 स्ट्रक्चर बनेंगे और 800 करोड़ रुपये की राशि से इस मार्ग की मरम्मत करवाई जाएगी। उन्होंने कहा कि इस हाईवे के साथ बनी सर्विस रोड़ की हालत भी सुधारी जाएगी, राज्य सरकारें सर्विस रोड़ से अतिक्रमण हटाने में सहयोग करें।

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल, उप मुख्यमंत्री श्री दुष्यंत चौटाला तथा केन्द्रीय राज्यमंत्री राव इन्द्रजीत सिंह द्वारा उठाई गई मांगों का उल्लेख करते हुए श्री गडकरी ने भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) द्वारा हरियाणा प्रदेश में करवाए जा रहे सड़क निर्माण के कार्यों का विस्तार से उल्लेख किया और कहा कि हरियाणा में 36 हजार करोड़ रुपये की लागत से 608 किलोमीटर के तीन एक्सप्रैस वे बनाने का काम चल रहा है। दिल्ली-मुंबई एक्सप्रैस वे का लगभग 130 किलोमीटर भाग हरियाणा में पड़ता है जिसमें 3 फलाईओवर बनेंगे ।

उन्होंने कहा कि द्वारका एक्सप्रेस वे का निर्माण 9 हजार करोड़ रुपये की लागत से किया जा रहा है जिसमें 3.6 किलोमीटर लंबाई की 8 लेन की शेलो टनल भी बनाई जाएगी जिससे कि लोगों को हवाई अड्डे पर जाने में सुविधा होगी।

उन्होंने कहा कि द्वारका एक्सप्रेस वे का निर्माण कार्य इसी वर्ष पूरा करने की कोशिश की जाएगी। श्री गडकरी ने बताया कि हरियाणा के पिछड़े क्षेत्रों में पलवल-अलीगढ़ मार्ग को ईस्टर्न पैरिफेरियल रोड़ से जोड़ने का कार्य जून तक शुरू होगा। उन्होंने बताया कि रेवाड़ी में बाईपास का निर्माण 48 प्रतिशत पूरा हो चुका है।

केन्द्रीय मंत्री श्री गडकरी ने कहा कि दिल्ली-एनसीआर को ट्रेफिक जाम से मुक्त करने के लिए 60 हजार करोड़ रुपये की राशि खर्च की जा रही है। इसका सबसे ज्यादा फायदा हरियाणा को होगा। उन्होंने हरियाणा में राष्ट्रीय राजमार्ग के कार्यों का भी उल्लेख किया और बताया कि हरियाणा में पूर्व दिशा से पश्चिम दिशा की ओर ट्रांस हाईवे डबवाली से पानीपत तक बनाने के कार्य को मंजूर किया जा चुका है। इसकी डीपीआर बनाई जा रही है इसका निर्माण कार्य इसी वर्ष शुरू करने का प्रयास किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि पटियाला से कुरूक्षेत्र होते हुए यमुनानगर तक तथा हिसार से रेवाड़ी तक के मार्गों को भारतमाला-2 योजना में शामिल किया गया है। हिसार-जींद-कैथल -करनाल सहित 6 शहरों के बाईपास भी मंजूर किए गए हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली-मुंबई एक्सप्रैस वे का निर्माण कार्य गति से चल रहा है और इसके पूरा होने के बाद दिल्ली से जयपुर मात्र 2 घंटे में पहुंचा जा सकेगा।

केन्द्रीय राज्यमंत्री राव इन्द्रजीत सिंह द्वारा खेड़कीदौला टोल प्लाजा को हटवाने के बारे में की गई मांग तथा अन्य मांगो पर श्री गडकरी ने कहा कि द्वारका एक्सप्रेस वे ट्रेफिक के लिए खुलने पर इस टोल को शिफट कर दिया जाएगा। यह एक्सप्रेस वे इसी वर्ष पूरा होगा। इसके साथ ही उन्होंने पंचगांव, राठीवास तथा सालहावास में अंडरपास या फलाईओवर जो भी उचित होगा वह बनवाने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि लगभग 2 हजार करोड़ रुपये खर्च करके बनाए जा रहे गुरुग्राम -सोहना रोड़ का कार्य भी इसी वर्ष पूरा होगा जिसमें एलिवेटिड हाईवे , अंडरपास तथा फलाईओवर बनाए जा रहे हैं।

आज केन्द्रीय मंत्री श्री गडकरी तथा मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने हरियाणा में पड़ने वाली जिन परियोजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास किया है उनमें मुख्य रूप से 103 करोड़ रुपये की लागत से एनएच-48 पर गुरुग्राम में एंबियंस मॉल के  पास बनाए गए चार लेन के यू-टर्न अंडरपास का उद्घाटन शामिल है। इसके अलावा, 147.51 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाली एनएच-919 तथा एनएच-48 को जोड़ने वाली धारूहेड़ा-भिवाड़ी लिंक रोड़ व कापड़ीवास चौक पर फलाईओवर , 86 करोड़ रुपये की लागत से मानेसर में ऐलिवेटिड हाईवे व पुल , 34.27 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले बिलासपुर में फलाईओवर , मसानी बराज के पास पुल, लादूवास गुजर में बॉक्स कलवर्ट आदि की आधारशिला रखने सहित हरियाणा राज्य में पड़ने वाले एनएच-48 के रख-रखाव व मरम्मत कार्यों पर 260.40 करोड़ रूप्ये की राशि खर्च होगी।

केन्द्रीय राज्यमंत्री राव इन्द्रजीत सिंह ने दक्षिण हरियाणा को सड़क परियोजनाओं का तोहफा देने के लिए श्री गडकरी का आभार जताया। उन्होंने कहा कि श्री गडकरी ने इस क्षेत्र की सड़को राव इन्द्रजीत सिंह ने गुरूग्राम संसदीय क्षेत्र में श्री गडकरी के मंत्रालय द्वारा करवाए गए सड़क निर्माण के कार्यों का विस्तार से उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि इस्माईलाबाद से नारनौल तक लगभग 9200 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाला हाईवे उत्तर हरियाणा और दक्षिण हरियाणा को जोड़ेगा।

इस अवसर पर केन्द्रीय सड़क , परिवहन तथा राजमार्ग राज्यमंत्री जरनल वी के सिंह तथा हरियाणा के उप मुख्यमंत्री श्री दुष्यंत चौटाला ने भी संबोधित किया। राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए कार्यक्रम से जुड़े और श्री गडकरी का आभार जताया।

कार्यक्रम में सांसद कर्नल राज्यवर्धन राठौर, सांसद रामशरण बोहरा , हरियाणा सरकार में सहकारिता मंत्री डा. बनवारी लाल, सैनिक व अर्धसैनिक विभाग के राज्यमंत्री ओमप्रकाश यादव, पटौदी के विधायक सत्यप्रकाश जरावता, पूर्व विधायक बिमला चौधरी, मेयर मधु आजाद उपस्थित रहे जबकि राजस्थान सरकार के मंत्री भजनलाल जाटव व राजेन्द्र यादव ऑनलाइन जुड़े।

अन्य न्यूज़