कोरोना से अनाथ हुए बच्चों की देखभाल को आगे आई नीतीश सरकार

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 30, 2021   15:05
कोरोना से अनाथ हुए बच्चों की देखभाल को आगे आई नीतीश सरकार

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा, कोरोना संक्रमण से माता-पिता को खोने वाले बच्चों को बाल सहायता योजना देने का निर्णय किया है।ऐसे अनाथ बच्चियों का कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय में प्राथमिकता पर नामांकन कराया जाएगा।

पटना। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ऐसे बच्चे जिनके माता पिता दोनों की मृत्यु हो गई है और जिनमें से कम से कम एक की मृत्यु कोरोना वायरस संक्रमण से हुई है, उन्हें बाल सहायता योजना अंतर्गत राज्य सरकार द्वारा 18 वर्ष होने तक 1500 रुपये प्रतिमाह दिये जाने की घोषणा की है।

इसे भी पढ़ें: यूपी के बलरामपुर में पीपीई किट पहने शख्स ने नदी में फेंका शव, कैमरे में कैद हुई घटना

नीतीश ने रविवार को ट्वीट कर कहा, ऐसे बच्चे-बच्चियों जिनके माता पिता दोनों की मृत्यु हो गई, जिनमें कम से कम एक की मृत्यु कोरोना से हुई हो, उनको बाल सहायता योजना अंतर्गत राज्य सरकार द्वारा 18 वर्ष होने तक 1500 रुपए प्रतिमाह दिया जाएगा।

इसे भी पढ़ें: कोरोना से अनाथ हुए बच्चों की मदद के लिए हरियाणा ने की वित्तीय सहायता की घोषणा

उन्होंने कहा, जिन अनाथ बच्चे-बच्चियों के अभिभावक नहीं हैं, उनकी देखरेख बालगृह में की जाएगी। ऐसे अनाथ बच्चियों का कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय में प्राथमिकता पर नामांकन कराया जाएगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।