जम्मू-कश्मीर में एमबीबीएस सीटों की संख्या 500 से बढ़कर 1100 हुई

MBBS seats
स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग के वित्तीय आयुक्त अटल दुल्लो ने कहा, इस अनुमति के बाद अधिक संख्या में डॉक्टर तैयार और उपलब्ध होंगे, जिससेजम्मू-कश्मीर के स्वास्थ्य ढांचे को और मजबूती मिल सकेगी। राजौरी और कठुआ में स्थित जीएमसी को भी दूसरे बैच के लिए क्रमश: 115 और 100 सीटों की अनुमति दी गई है।

जम्मू। जम्मू-कश्मीर के सरकारी मेडिकल कॉलेजों (जीएमसी) में एमबीबीएस कोर्स की सीटों की संख्या वर्ष 2018-19 की 500 सीटों से बढ़ा कर वर्तमान शैक्षणिक सत्र 2020-2021 के लिए 1100 कर दी गई है। एक आधिकारिक प्रवक्ता ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि सीटों की संख्या में बढ़ोत्तरी के बाबत स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग को राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग की तरफ से अनुमति पत्र भी प्राप्त हो चुका है। इसके तहत इस शैक्षणिक सत्र के लिए जीएमसी डोडा में एमबीबीएस के 100 छात्रों को प्रवेश दिए जाने की अनुमति दी गई है। 

इसे भी पढ़ें: महबूबा मुफ्ती के घर गुपकार बैठक, फारूक बोले- PAGD भाजपा विरोधी मंच है, देश विरोधी नहीं

साथ ही अनंतनाग और बारामुला जीएमसी को भी अपने दूसरे बैच के लिए 100 छात्रों को दाखिला दिए जाने की अनुमति दी गई है। स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग के वित्तीय आयुक्त अटल दुल्लो ने कहा, इस अनुमति के बाद अधिक संख्या में डॉक्टर तैयार और उपलब्ध होंगे, जिससेजम्मू-कश्मीर के स्वास्थ्य ढांचे को और मजबूती मिल सकेगी। राजौरी और कठुआ में स्थित जीएमसी को भी दूसरे बैच के लिए क्रमश: 115 और 100 सीटों की अनुमति दी गई है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़