एक देश एक चुनाव का प्रस्ताव अहम मुद्दों से लोगों का ध्यान भटकाएगा: बघेल

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jun 21 2019 7:04PM
एक देश एक चुनाव का प्रस्ताव अहम मुद्दों से लोगों का ध्यान भटकाएगा: बघेल
Image Source: Google

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि क्या आप लोकसभा और सभी विधानसभाओं को भंग कर रहे हैं? जब चुनाव नजदीक हो तब ‘एक देश, एक चुनाव’ पर चर्चा की जानी चाहिए।

नयी दिल्ली। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शुक्रवार को कहा कि ‘एक देश, एक चुनाव’ या लोकसभा और विधानसभाओं के चुनाव एक साथ कराने का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का प्रस्ताव अहम मुद्दों से लोगों का ध्यान भटकाने के लिए है। बघेल ने मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के शुरू होने के महीने भर के अंदर इस तरह की तत्परता पर सवाल उठाया। उन्होंने यह भी कहा कि बेरोजगारी और दबे-कुचले लोगों के कल्याण जैसे विषयों को प्राथमिकता दी जानी चाहिए। उन्होंने कहा, ‘क्या आप लोकसभा और सभी विधानसभाओं को भंग कर रहे हैं? जब चुनाव नजदीक हो तब ‘एक देश, एक चुनाव’ पर चर्चा की जानी चाहिए।’

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस का हर व्यक्ति चाहता है राहुल गांधी बने रहें अध्यक्ष: भूपेश बघेल

मुख्यमंत्री ने कहा कि ‘एक देश, एक चुनाव’ पर चर्चा करना मुख्य मुद्दों से लोगों का ध्यान भटकाने के लिए है। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव हाल ही में संपन्न हुए हैं...और वे अब एक देश, एक चुनाव की बात कर रहे हैं। इसकी क्या जरूरत है ? क्या जल्द ही चुनाव आने वाले हैं? बघेल ने राज्य में नक्सलवाद के विषय पर कहा कि नक्सली नेतृत्व के साथ वार्ता हो सकती है, बशर्ते कि वे अपने हथियार डाल दें और संविधान पर विश्वास करें। पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के कांग्रेस में लौटने की संभावना के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि उनके लिए दरवाजे पहले ही बंद हो चुके हैं। सीबीआई को छत्तीसगढ़ में मामलों की जांच करने से रोके जाने के विषय पर उन्होंने कहा कि राज्य में जांच करने से केंद्रीय एजेंसी को रोकने का फैसला पिछली भाजपा सरकार का था।



रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप