मुख्यमंत्री प्रगतिशील किसान सम्मान’ पुरस्कार के लिए ऑनलाइन आवेदन

Manohar Lal
कृषि फसलों की उच्च उत्पादकता प्राप्त करने के साथ-साथ पानी की बचत, फसल अवशेष प्रबंधन, जैविक खेती, एकीकृत कृषि प्रणालियों व टिकाऊ कृषि जैसी नवीनतम तकनीकी को अपनाने वाले किसानों को इस पुरस्कार योजना के तहत राज्य एवं जिला स्तर पर पुरस्कृत किया जाएगा।

चंडीगढ़ ।  हरियाणा सरकार ने किसानों के उत्साह को देखते हुए प्रगतिशील किसानों की पहचान कर उन्हें सम्मानित करने के लिए शुरू की गई ‘मुख्यमंत्री प्रगतिशील किसान सम्मान’ पुरस्कार के लिए ऑनलाइन आवेदन की तिथि कल 30 जनवरी 2022 तक बढ़ा दी है।

 

कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के प्रवक्ता ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि कृषि फसलों की उच्च उत्पादकता प्राप्त करने के साथ-साथ पानी की बचत, फसल अवशेष प्रबंधन, जैविक खेती, एकीकृत कृषि प्रणालियों व टिकाऊ कृषि जैसी नवीनतम तकनीकी को अपनाने वाले किसानों को इस पुरस्कार योजना के तहत राज्य एवं जिला स्तर पर पुरस्कृत किया जाएगा। उन्होंने बताया कि इच्छुक प्रगतिशील किसान 30 जनवरी 2022 तक कृषि विभाग की वेबसाइट  www.agriharyana.gov.in   पर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: आजादी की पहली लड़ाई का शहीद स्मारक जल्द बनकर होगा तैयार - अनिल विज

उन्होंने बताया कि उक्त योजना के तहत राज्य स्तर पर प्रथम पुरस्कार के रूप में एक किसान को पांच लाख रुपए, द्वितीय पुरस्कार के रूप में दो किसानों को तीन-तीन लाख रुपए तथा तृतीय पुरस्कार के लिए पांच किसानों को एक-एक लाख रुपए नकद प्रदान किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि विभाग द्वारा जिला स्तर पर भी किसानों को सम्मानित किया जाएगा। जिला स्तरीय श्रेणी में चार-चार किसानों को पुरस्कार दिया जाएगा। इस प्रकार जिला स्तर पर सांत्वना पुरस्कार के रूप में किसानों को 50-50 हजार रुपए की पुरस्कार राशि दी जाएगी। उन्होंने आगे जानकारी दी कि पुरस्कार चयन के लिए राज्य स्तर पर कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के महानिदेशक तथा जिला स्तर पर संबंधित उपायुक्त की अध्यक्षता में कमेटी का गठन किया गया है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़