विपक्षी पार्टियां प्रजातंत्र में नहीं, परिवार तंत्र में विश्वास करती हैं : जेपी नड्डा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 22, 2021   17:45
विपक्षी पार्टियां प्रजातंत्र में नहीं, परिवार तंत्र में विश्वास करती हैं : जेपी नड्डा

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने सोमवार को विपक्षी दलों पर निशाना साधते हुए कहा कि विपक्षी पार्टियां प्रजातंत्र में नहीं, परिवार तंत्र में विश्वास करती हैं और वहां परिवार ही पनप सकता है।

गोरखपुर (उप्र) । भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने सोमवार को विपक्षी दलों पर निशाना साधते हुए कहा कि विपक्षी पार्टियां प्रजातंत्र में नहीं, परिवार तंत्र में विश्वास करती हैं और वहां परिवार ही पनप सकता है। नड्डा ने यहां गोरखपुर क्षेत्र के बूथ अध्यक्षों के सम्मेलन में कांग्रेस, समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) का नाम लिए बिना अपने संबोधन में कहा, हम सांस्कृतिक राष्ट्रवाद को लेकर चलते हैं और वे (विपक्ष) वंशवाद को लेकर चलते हैं। हमारा राष्ट्रवाद महत्वपूर्ण है, उनका वंशवाद के आगे कुछ नहीं है, जो कुछ है वह वंश के लिए ही है। उन्होंने यह भी कहा कि बहुत लोग किसान नेता बनते हैं लेकिन अगर किसी ने किसानों के लिए कुछ किया है तो वह मोदी जी ने किया है।

इसे भी पढ़ें: CM शिवराज की बड़ी घोषणा , पातालपानी रेलवे स्टेशन का नाम होगा टंट्या मामा

सपा के मुखिया का नाम लिए बिना उन्होंने तंज किया हम लोग सबका साथ सबका विश्वास को लेकर चलते हैं, वे वोट बैंक वर्ग विशेष को लेकर राजनीति करते हैं। हम लोग सबके उदय में विश्वास करते हैं वे लोग परिवार के उदय में विश्वास करते हैं, अपने लिए, अपने भाई के लिए, अपने चाचा के लिए, अपने ताया के लिए -- और अब तो उन्होंने चाचा के लिए भी सोचना छोड़ दिया है, अब तो सिर्फ अपने लिए ही रह गया है। उन्होंने कोरोना वैक्सीन को लेकर भी सपा प्रमुख पर तंज किया। ध्‍यान रहे गोरखपुर क्षेत्र में कुल 27,637 मतदान केंद्र हैं और हर मतदान केंद्र पर 21 सदस्यीय समिति का गठन किया गया है। भाजपा के सांगठनिक दृष्टि से गोरखपुर क्षेत्र में कुल 62 विधानसभा क्षेत्र हैं जिनमें भाजपा ने 2017 के विधानसभा चुनाव में 43 और सहयोगी दलों ने दो सीटें जीती थीं।

इसे भी पढ़ें: सोशल मीडिया पर ‘‘आपत्तिजनक पोस्ट’’ डालने पर मध्यप्रदेश कांग्रेस सचिव गिरफ्तार

गोरखपुर न केवल उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ का गृह जिला है बल्कि वह यहां के प्रतिष्ठित गोरक्षपीठ के पीठाधीश्वर भी हैं। इसी क्षेत्र में राज्‍य की मुख्‍य विपक्षी समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव का संसदीय निर्वाचन क्षेत्र आजमगढ़ और विधानसभा में नेता विरोधी दल रामगोविंद चौधरी का विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र बांसडीह (बलिया) भी आता है। विधानसभा में बसपा के दल नेता शाह आलम भी गोरखपुर क्षेत्र के आजमगढ़ जिले के मुबारकपुर विधानसभा क्षेत्र के विधायक हैं। अगले वर्ष होने वाले राज्य विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा तैयारी में जुट गई है और बूथ अध्यक्षों के जरिये चुनावी चक्रव्यूह तोड़ने के अपने पुराने फार्मूले के तहत फिर से क्षेत्रवार सम्मेलन आयोजित कर रही है। इस मौके पर मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि यह वही प्रदेश है जहां माफियाओं और दंगाइयों का वर्चस्व रहता था लेकिन गुंडे आज गुंडई भूले गये हैं।

उन्होंने कहा कि एक तरफ भारत की आन बान और शान की रक्षा के लिए दुनिया में भारत को समर्थ बनाने में मोदी जी लगे हैं तो दूसरी तरफ देश प्रदेश की जनता के हकों पर डकैती डालने वाले जिन्नावादी सोच वाले खड़े दिखाई देंगे। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि राष्ट्रीय अध्‍यक्ष के आह्वान पर कोरोना काल में भाजपा के एक-एक कार्यकर्ता ने गरीब परिवार की सेवा की और गरीब को राशन दिलवाने से लेकर प्रवासी मजदूरों को भोजन देने का काम हमारे कार्यकर्ताओं ने किया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।