बजट सत्र शुरु होने से पहले विपक्षी दल ने गांधी प्रतिमा के सामने विरोध प्रदर्शन किया

बजट सत्र शुरु होने से पहले विपक्षी दल ने गांधी प्रतिमा के सामने विरोध प्रदर्शन किया

बजट सत्र की शुरुआत से पहले कांग्रेस के सांसदों ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी के नेतृत्व में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) एवं एनआरसी के विरोध में प्रदर्शन कर रहे लोगों के प्रति एकजुटता प्रकट करते हुए शुक्रवार को संसद परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने प्रदर्शन किया।

आज से संसद का बजट सत्र शुरु हो रहा है जोकि 31 जनवरी से लेकर 11 फरवरी तक चलेगा। बजट सत्र की शुरूआत होते ही विपक्षी दल संसद भवन के बाहर महात्मा गांधी की प्रतिमा के आगे खड़े होकर नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। इस विरोध प्रदर्शन की मोर्चा कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष और सांसद सोनिया गांधी ने संभाला। कांग्रेस के अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी सहित विपक्षी नेताओं ने संसद परिसर में गांधी प्रतिमा के सामने विरोध प्रदर्शन किया।

इसे भी पढ़ें: बिहार चुनाव को लेकर फुल एक्टिव मोड में CM, विपक्ष से लड़ाई के लिए 1 अणे मार्ग पर नीतीश की पाठशाला

बजट सत्र की शुरुआत से पहले कांग्रेस के सांसदों ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी के नेतृत्व में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) एवं एनआरसी के विरोध में प्रदर्शन कर रहे लोगों के प्रति एकजुटता प्रकट करते हुए शुक्रवार को संसद परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने प्रदर्शन किया। इस प्रदर्शन में पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, वरिष्ठ नेता अहमद पटेल, लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी और कई अन्य सांसद शामिल हुए। कांग्रेस सदस्यों ने भाजपा के कई नेताओं के विवादित बयानों के खिलाफ नारेबाजी की और सरकार पर संविधान के खिलाफ काम करने का आरोप लगाया।

इसे भी पढ़ें: रघुवंश प्रसाद ने लालू को लिखा पत्र, चुनाव से पहले सामने आया पार्टी का अंदरुनी कलह

पार्टी सीएए और एनआरसी का खुलकर विरोध कर रही है। उसका आरोप है कि सरकार अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर अपनी नाकामियां छिपाने के लिए इन मुद्दों को उछाल रही है। गौरतलब है कि संसद का बजट सत्र 31 जनवरी से शुरू हो रहा और इस दिन संसद के दोनों सदनों की संयुक्त बैठक को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद संबोधित करेंगे। बजट सत्र का पहला चरण 11 फरवरी तक चलेगा। मध्यावकाश के बाद इसका दूसरा चरण 2 मार्च से शुरू होकर 3 अप्रैल को संपन्न होगा।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।