मोदी हटाओ के हसीन सपने के लिये विपक्ष ने महागठबंधन का हौवा खड़ा किया: विजय गोयल

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 21, 2018   17:34
मोदी हटाओ के हसीन सपने के लिये विपक्ष ने महागठबंधन का हौवा खड़ा किया: विजय गोयल

गोयल ने यहां कहा, ‘‘भाजपा के पास एकतरफ जहां प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जैसा लोकप्रिय जन नेता और अमित शाह जैसा संगठनात्मक कौशल से निपुण अध्यक्ष है, वहीं विपक्ष के पास नेता, नियत और परिपक्वता की कमी है।’’

 नयी दिल्ली। केजरीवाल सरकार पर दिल्ली को विनाश के मार्ग पर धकेलने का आरोप लगाते हुए केंद्रीय मंत्री विजय गोयल ने कहा कि नेता एवं परिपक्वता की कमी का सामना कर रहा विपक्ष सिर्फ मोदी हटाओ के हसीन सपने के लिये महागबंधन का हौवा खड़ा करने का प्रयास कर रहा है। गोयल ने यहां कहा, ‘‘भाजपा के पास एकतरफ जहां प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जैसा लोकप्रिय जन नेता और अमित शाह जैसा संगठनात्मक कौशल से निपुण अध्यक्ष है, वहीं विपक्ष के पास नेता, नियत और परिपक्वता की कमी है।’’ 

उन्होंने कहा कि सिर्फ मोदी को हटाने का हसीन सपना देख रहा विपक्ष महागठबंधन का हौवा खड़ा करने का प्रयास कर रहा है जहां न तो विचारों का कोई मेल है और न ही उनकी नियत ही स्पष्ट है। भाजपा के वरिष्ठ नेता ने दावा किया कि मोदीजी की लोकप्रियता पहले से ज्यादा बढ़ी है और आने वाले समय में लोकसभा समेत सभी चुनाव में जनता भाजपा को जनादेश देगी। दिल्ली सरकार पर राष्ट्रीय राजधानी के लोगों के हितों के साथ समझौता करने का आरोप लगाते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि पिछले तीन वर्षों के दौरान केजरीवाल के नेतृत्व वाली दिल्ली सरकार ने प्रदेश का विकास नहीं किया बल्कि विनाश के मार्ग पर धकेलने का काम किया है। 

गत सोमवार को केजरीवाल पर मिर्ची पाउडर से हुए हमले का जिक्र करते हुए विजय गोयल ने कहा कि वे :केजरीवाल: सुरक्षा कवर नहीं लेने की बात करते थे, लेकिन सोमवार को उनकी पार्टी की प्रेस वार्ता से स्पष्ट हो गया कि वे अभेद्य सुरक्षा लिये हुए हैं। केजरीवाल दावा करते हैं कि वे लोगों के बीच रहते हैं। ऐसे में यह जनता को तय करना है कि तीन स्तर की सुरक्षा व्यवस्था के बीच गुटखे के पैकेट में मिर्ची पाउडर से मुख्यमंत्री पर हमला किया जाना और हमलावर द्वारा खुद को गिरफ्तार कराने की घटना में क्या छिपा है।

उन्होंने आरोप लगाया कि केजरीवाल दिल्ली की जनता के कल्याण के कार्यों को आगे बढ़ाने की बजाए लोगों का ध्यान बांटने का प्रयास कर रहे हैं। आम आदमी पार्टी के नेता अब बचपना छोड़ें । 1984 के सिख दंगा मामले में अदालत द्वारा एक दोषी को फांसी की सजा सुनाने की घटना के संदर्भ में उन्होंने कहा कि अदालत के इस फैसले से आशा बंधी है कि इस मामले में अपराधियों को सजा मिलेगी जिसमें कांग्रेस के कई बड़े नेता भी शामिल हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।